इंदिरापुरम के रामप्रस्थ ग्रीन प्लैटिनम हाइट्स सोसायटी के फ्लैट में मृत मिली मेड


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद ब्यूरो)। इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के रामप्रस्थ ग्रीन प्लैटिनम हाइट्स सोसायटी में रहने वाले कारोबारी के फ्लैट में सोमवार को बाथरूम में मेड मृत मिली। परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने फॉरेंसिक टीम को बुलाकर मौके से साक्ष्य जुटाए। इसके बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारणों की पुष्टि होगी। पुलिस पूछताछ कर मामले की जांच में जुटी हुई है। सोसायटी के बी ब्लॉक में 17वीं मंजिल पर अनिल जैन बेटे ईशांत, बहू निकिता के साथ रहते हैं। ईशांत सीए हैं और निकिता प्रोफेसर हैं। उनके पिता का दिल्ली के गांधीनगर में गारमेंट्स का कारोबार है। जनवरी 2020 में ही उन्होंने यहां फ्लैट खरीदकर शिफ्ट किया था। उन्होंने घर में काम करने के लिए एक मेड सीमा (18) को रखा था। पुलिस के मुताबिक, सोमवार को सीमा सुबह नहाने के लिए बाथरूम में गई। डेढ़ से दो घंटे तक वह बाहर नहीं निकली। करीब 11 बजे काम पड़ने पर बाथरूम का दरवाजा खटखटाया तो अंदर से सीमा का कोई जवाब नहीं आया। इस पर परिजनों ने दरवाजा तोड़ा तो देखा कि सीमा फर्श पर पड़ी हुई है। उन्होंने इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी। सूचना पाकर एसपी सिटी सेकेंड ज्ञानेंद्र सिंह, एसएचओ इंदिरापुरम संजीव शर्मा, इंस्पेक्टर क्राइम सुनील सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे। फॉरेंसिक की टीम को बुलाकर मौके से साक्ष्य जुटाए और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सीमा के गले पर चोट के निशान मिले हैं, हालांकि मौके से पुलिस को कुछ बरामद नहीं हुआ। एसपी सिटी सेकेंड ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों की पुष्टि हो सकेगी। परिजनों से मामले की जानकारी की जा रही है।
दिल्ली की एक एजेंसी से हायर की थी मेड
पुलिस जांच में सामने आया है कि कारोबारी ने मई 2020 को दिल्ली की एक एजेंसी के माध्यम से सीमा को 6 हजार रुपये प्रतिमाह पर रखा था। सीमा मूल रूप से जिला सुंदरगढ़ ओडिसा की रहने वाली थी। उसके पास कोई मोबाइल नहीं था। अपने परिजनों से बात भी वह कारोबारी परिवार के मोबाइल से ही करती थी। रविवार रात को उसने सभी के साथ टीवी देखी और अपने कमरे में सोने चली गई। वह दिन में कारोबारी परिवार की डेढ़ वर्ष की बच्ची को भी संभालती थी। एजेंसी को मामले की जानकारी दे दी गई है। एसएचओ इंदिरापुरम संजीव शर्मा ने बताया कि पूरे मामले में पूछताछ की जा रही है।