क्राइम पेट्रोल देखकर बना मुख्यमंत्री का ओएसडी, कई अधिकारियों को लगाई चपत


प्रयागराज। क्राइम से रिलेटेड सीरियल डायरेक्टर इसलिए बनाते हैं कि आदमी अपने आसपास होने वाले क्राइम को समझ सके और होने वाले क्राइम से बच सके। लेकिन उत्तर प्रदेश कौशांबी में एक ऐसे अपराधी को पुलिस ने अरेस्ट किया, जो टीवी सीरियल में आने वाले क्राइम कार्यक्रम से प्रेरित होकर अपराध के रास्ते को एक अख्तियार कर लिया। एक चाय वाले से शातिर अपराधी हो गया। जिसने अपना निशाना उत्तर प्रदेश के अधिकारियों को बनाया और उनसे लाखों रुपये मुख्यमंत्री का ओएसडी बनकर वसूल किया।
टीवी सीरियल देख बन गया अपराधी
टीवी सीरियल क्राइम पेट्रोल, सीआईडी पकड़े गए अपराधी की पहली पसंद थी। किस तरह एक ऑर्गेनाइज क्राइम किया जाता है। इन सीरियलों से सीखा। उसके बाद उसने सीरियल का नकल कर असल अपराध की दुनिया में आ गया। पुलिस ने जब इस अपराधी से कड़ाई से पूछताछ की तो इसने अपने अपराध के तरीके को टीवी सीरियल की तरह करने की बात कबूल की है।
रायबरेली का रहने वाला है अपराधी
यूपी के रायबरेली का रहने वाला पंकज प्रदेश की राजधानी सचिवालय के सामने कभी चाय की दुकान लगाया करता था । प्रदेश भर के अधिकारी का सचिवालय में आना जाना होता था। आने-जाने वाले हर अधिकारियों पर उसकी निगाह होती थी और उनकी पूरी जानकारी पंकज के पास मौजूद थी। इसलिए अपने को मौजूदा मुख्यमंत्री का ओएसडी बता कर इन अधिकारियों को अपने निशाने पर लेकर पैसे वसूल किया करता था।
मुख्यमंत्री का ओएसडी बन अधिकारियों पर झाड़ता था रौब
शातिर अपराधी पंकज अपने को मुख्यमंत्री का ओएसडी बता कर जिले के अधिकारियों पर रौब झाड़ता था और पैसे न देने पर उनको ऊपर कार्रवाई करने की बात करता था। कौशाम्बी पुलिस ने हाई प्रोफाइल ठग पंकज सिंह को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपित के कब्जे से तीन मोबाइल फोन, कई बैंक खातों की पास बुक, डायरी, जनसूचना डायरी बरामद की है।
एसपी अभिनंदन के मुताबिक आरोपित पंकज सिंह ने सीआईडी और क्राइम पेट्रोल सीरियल देख कर अपराध की दुनिया में पंहुचा है। अब तक पंकज नाम बदल बदल कर 40 से अधिक अफसरों से रुपये ऐठ चुका है।