स्वाट टीम व थाना कविनगर पुलिस टीम द्वारा आरडीसी क्षेत्र में हुई लूट का खुलासा, 03 अभियुक्त गिरफ्तार


मनीष मित्तल,(गाजियाबाद)।  थाना कविनगर क्षेत्र के आरडीसी मे दिनांक 01.03.2021 को सुबह करीब 10.20 बजे  नितिन पुत्र राजकुमार निवासी जयमाता अपार्टमैन्ट न्यू पंचवटी कपडा मिल थाना कोतवाली घंटाघर कर्मचारी सुकृति फूडस प्रा०लि0 द्वारा कम्पनी का कैश करीब 10 लाख रुपये औद्योगिक क्षेत्र थाना कविनगर से आरडीसी मे बैंक में जमा करने के लिए सैन्ट्रो गाडी नं0 UP14E 0119 से गये, जहां बैंक की पार्किंग से स्कूटी सवार दो अज्ञात बदमाशो द्वारा कैस से भरा बैग लूट लिया गया, उपरोक्त घटना के सम्बन्ध में थाना कविनगर पर मु0अ0सं0 311/2021 धारा 392 भादवि पंजीकृत किया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद गाजियाबाद द्वारा उक्त लूट की घटना के अनावरण हेतु बीट आरक्षी एवं जनपद गाजियाबाद एवं आस पास की विगत लूट की घटनाओ मे प्रकाश मे आये अभियुक्तो का सत्यापन एवं मुखबिर आदि से फीडबैक हासिल कर एवं सुकृति फूडस प्रा०लि0 मे वर्तमान एवं पूर्व मे कार्यरत रहे सभी कर्मचारियों का सत्यापन, पूछताछ एवं गति विधियो पर सतर्क दृष्टि रखने हेतु निर्देश निर्गत करते हुए घटना का शीघ्र अनवारण करने के निर्देश दिये गये। निर्देशो के अनुपालन मे  पुलिस अधीक्षक नगर महोदय, क्षेत्राधिकारी नगर द्वितीय महोदय के निर्देशन मे प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार पाण्डेय स्वाट टीम व प्रभारी निरीक्षक थाना कविनगर अजय कुमार सिंह के नेतृत्व मे 05 टीमे गठित करते हुए बीट आरक्षीयों को घटना के अनावरण हेतु समय समय पर ब्रीफ किया गया। गठित टीमो द्वारा सुकृति फूडस मे वर्तमान एवं पूर्व में कार्यरत 30 कर्मचारियों की गतिविधियों पर गोपनीय रुप से दृष्टि रखते हुए जानकारी की गयी तो फर्म मे कार्यरत ड्राईवर नफीस खान पुत्र रहीस खान जाति पठान निवासी कविनगर जैन मंदिर के पास फरमान नर्सरी थाना कविनगर गाजियाबाद की गतिविधियां संदिग्ध प्रतीत हुई इस सूचना पर गठित टीमो द्वारा एवं बीट आरक्षियों व मुखबिर द्वारा गहनता से कार्य किया तो यह तथ्य प्रकाश में आया कि उपरोक्त घटना का मास्टर माइंड नफीस ही है। उसी के द्वारा अपने परिचित बोबी कुशवाह पुत्र रमेश चन्द कुशवाह निवासी त्यागी पैट्रोल पम्प के पीछे ट्रांसफार्मर के पास ग्राम छपरौला थाना बादलपुर गौतमबुद्धनगर जो कम्पनी मे पूर्व मे काम किया करता था के द्वारा अन्य साथियों (1) मोहित रावत पुत्र जगत रावत निवासी किरायेदार के एफ 15 कविनगर थाना कविनगर गाजियाबाद (2) सूरज उर्फ शुभम पुत्र नरेश कौरी निवासी ग्राम रजापुर थाना कविनगर गाजियाबाद व (3) सनी पुत्र राजवीर निवासी चावड थाना इग्लास जिला अलीगढ को सूचना देकर उक्त घटना कारित करायी गयी है। इस सूचना पर चालक नफीस खान एवं उसके दो अन्य साथियों बोबी कुशवाह व मोहित रावत उपरोक्त को दिनांक 08.03.2021 को समय 21.50 बजे जैन मन्दिर के समाने नेहरू नगर पुल के नीचे से गिरफ्तार कर उक्त घटना का सफल अनवारण किया गया। गिरफ्तार अभियुक्त गण से पूछताछ पर यह तथ्य प्रकाश मे आया कि घटना वाले दिन अभियुक्त मोहित रावत व फरार अभियुक्त सूरज उपरोक्त द्वारा स्कूटी से उक्त घटना को कारित किया गया तथा अभियुक्त बोबी कुशवाह व सनी पल्सर मोटर साईकिल से बैकअप के रुप मे इनके सहयोग के लिये पीछे मौजूद रहे एवं मुख्य साजिश कर्ता नफीस खान उपरोक्त घटना वाले दिन अपने मालिक के साथ लखनऊ काम से गया था जिससे उस पर शक न हो । घटना मे प्रयुक्त स्कूटी के सम्बन्ध मे अभियुक्तगण ने बताया कि वह फरार अभियुक्तों के पास है तथा नफीस को इस बात की जानकारी थी कि उस दिन घटना को अन्जाम दिया जायेगा. इसलिये नफीस वहां से हट गया था। अभियक्त गण (1) नफीस खान पुत्र रहीस खान जाति पठान निवासी कविनगर जैन मंदिर के पास फरमान नर्सरी थाना कविनगर गाजियाबाद (2) बोबी कुशवाह पुत्र रमेश चन्द कुशवाह निवासी त्यागी पैट्रोल पम्प के पीछे ट्रांसफार्मर के पास ग्राम छपरौला थाना बादलपुर गौतमबुद्धनगर (3) मोहित रावत पुत्र जगत रावत निवासी किरायेदार के एफ 15 कविनगर थाना कविनगर गाजियाबाद को मोटर साईकिल नं0 UP14AQ 9456 पल्सर व मोटर साईकिल नं0 DL7SBE 6015पल्सर सहित दिनांक 08.03.2021 को जैन मंदिर के सामने नेहरुनगर फ्लाई ओवर के नीचे समय 21.50 बजे मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया गया।
मोटर साईकिल नं0 UP14AQ 9456 पल्सर का उपरोक्त लूट की घटना मे अभियुक्त गण द्वारा प्रयोग किया गया है तथा अभियुक्त मोहत रावत से एक कन्ट्रीमेड पिस्टल .32 बोर व 04 जिन्दा कारतूस .32 बोर व अभियुक्त बोबी कुशवाह से एक तंमचा .315 बोर व 02 जिन्दा कारतूस 315 बोर व अभियुक्त गण द्वारा कारित घटना के 6 लाख रुपये बरामद हुए। अभियुक्त मोहित रावत व बोबी कुशवाह के विरुद्ध थाना कविनगर पर क्रमशः मु0अ0सं0 358/2021 धारा 3/25 आर्स एक्ट व मु0अ0सं0 359/2021 धारा 3/25 आर्स एक्ट पंजीकृत किया गया। 
अभियुक्त गण शातिर किस्म के लूटेरे है जो कम्पनियों मे कार्य करने वाले कर्मचारियों व ड्राईवरो को जिनको कम्पनी के कैश के आने जाने की पूर्ण जानकारी होती से दोस्ती कर कम्पनी से निकलने वाले कैश की जानकारी कर लूट की घटनाओ को अंजाम देते है।