शाहजहांपुर में 100 रुपये के लिए पिता के सामने बेटे की हत्या


  • मृतक और और आरोपी दोनों साथ में करते थे कच्ची शराब का धंधा
  • पुलिस आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने की बात कह रही है
  • बिक्री के बाद दोनों के बीच में पैसो के बंटवारे को लेकर हुआ था विवाद
शाहजहांपुर। शाहजहांपुर के थाना मिर्जापुर में महज 100 रुपये के लेनदेन के विवाद में एक युवक को उसके पिता के सामने ही गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। आरोपी अभिजीत और मृतक दलबीर पार्टनरशिप में कच्ची शराब बनाने और बेचने का काम करते थे।
घटना थाना मिर्जापुर के बानगांव की है। जहां के रहने वाले दलवीर (25) और अभिजीत मिलकर गांव में अवैध कच्ची शराब बेचने का काम करते थे। परिवार वालों की मानें तो होली से 1 दिन पहले दोनों में सौ रुपये के लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था। परिचित को कच्ची शराब से हुई कमाई में 100 रुपये कम मिले थे।
मृतक के पिता ने भागकर बचाई जान
सोमवार रात लगभग 10 बजे दलबीर अपने पिता कल्लू के साथ होली मिलन कार्यक्रम से लौट रहा था। जैसे ही दलवीर अपने साथी अभिजीत के घर के पास पहुंचा, तभी अभिजीत ने अपने साथियों रामू और शिव के साथ मिलकर उसे घेर लिया और लाठी डंडों से पीटना शुरू कर दिया। जब दलबीर का पिता कल्लू बेटे को बचाने दौड़ा तो आरोपियों ने कल्लू को भी डंडे से पीट दिया।
दलवीर जब तीनों पर कुछ भारी पड़ने लगा तो अभिजीत ने गोट से तमंचा निकालकर दलवीर के सीने में गोली मार दी। गोली लगने से दलवीर की मौके पर ही मौत हो गई। पिता कल्लू ने किसी तरह से मौके से भाग कर अपनी जान बचाई। घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
जल्द गिरफ्तारी का पुलिस कर रही दावा
पुलिस अधीक्षक आनंद का कहना है कि दोनों लोग कच्ची शराब बेचने का काम करते थे। बिक्री के बाद दोनों के बीच में पैसो के बंटवारे को लेकर विवाद हो गया था। इसी विवाद के चलते दलवीर की गोली मारकर हत्या की गई है। परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की बात कर रहे हैं।