दिल्ली के पश्चिम विहार में रोडरेज में दो युवकों की चाकू से गोदकर हत्या


  • सोमवार रात करीब 12.40 बजे आरोपियों की बाइक से युवकों की स्कूटी हलकी सी टच हो गई
  • आरोपियों ने गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी तो रोहित-घनश्याम ने टोका
  • इसके बाद आरोपियों ने दोनों पर हमला कर दिया और बेरहमी से हत्या कर फरार हो गए
  • नाबालिग समते दो आरोपी पकड़े गए, वारदात में इस्तेमाल की गई बाइक और चाकू बरामद
दिल्ली ब्यूरो। आउटर दिल्ली के पश्चिम विहार में सोमवार की आधी रात रोडरेज में दो युवकों की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस ने बताया कि बाइक और स्कूटी के टच होने के महज 3 मिनट में पूरी वारदात को अंजाम दिया गया। बाइक सवार दो लोगों ने स्कूटर सवार दो युवकों को तब तक चाकू से गोदा, जब तक कि दोनों ने दम नहीं तोड़ दिया। प्रत्येक मृतक के शरीर पर 50 से ज्यादा चाकू के घाव हैं। दोनों आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है। इनमें एक नाबालिग है। वारदात में इस्तेमाल चाकू और बाइक भी बरामद कर ली गई है। मृतकों की पहचान नांगलोई के शिवराम पार्क निवासी 23 वर्षीय रोहित अग्रवाल और बिहार के बेगूसराय निवासी 20 वर्षीय घनश्याम उर्फ चूजा के तौर पर हुई हे। दो हत्याओं के बीच जो वजह सामने आई, उसे देखकर हर कोई हैरान है। महज बाइक और स्कूटी के टच होने पर बेखौफ बदमाशों ने स्कूटी सवार दोनों युवकों की हत्या करके वहीं पटक दिया।
घटना का दिल दहलाने वाला सीसीटीवी विडियो मंगलवार सुबह सोशल मीडिया में वायरल हो गया। आरोपी तब तक चाकू से गोदते रहे, जब तक उन्हें यह कन्फर्म हो गया कि दोनों मर चुके हैं। उद्योग नगर मेट्रो स्टेशन के पास गली के नुक्कड़ पर हुई हत्या के दो आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया है। इनमें एक नाबालिग है। वारदात में इस्तेमाल चाकू और बाइक भी बरामद की है।
आउटर डीसीपी डॉ ए कॉन के मुताबिक, सोमवार देर रात पीसीआर को उद्दोग नगर मेट्रो स्टेशन के पास दो लोगों के घायल पड़े होने की सूचना मिली थी। घायलों को इलाज के लिए संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। पश्चिम विहार वेस्ट पुलिस ने जांच के बाद दोनों की पहचान की। दोनों से बरामद मोबाइल के जरिए परिजनों को मामले की सूचना दी गई।
रोहित परिवार सहित नांगलोई के शिव राम पार्क इलाके में रहते थे। उनके परिवार में पिता चरणजीत, मां सुनीता, बहन शिवानी व अन्य सदस्य हैं। वह पिता की बर्तन की दुकान में उनका हाथ बटाते थे। साथ ही सिविल डिफेंस वॉलंटियर भी थे। वहीं घनश्याम भी नरेला के शिव राम पार्क इलाके में रहते थे। वह मूलरूप से बेगूसराय, बिहार के रहने वाले थे। इनके परिवार में पिता हैं, जो बेगूसराय में रहते हैं।
घनश्याम नांगलोई में डेयरी चलाने वाले राजकुमार गुलाठी के यहां काम करते थे और उन्हीं के यहां रहते थे। दोनों मृतक दोस्त थे। दोनों देर रात ज्वालापुरी गए थे। जहां रोहित के पिता के दोस्त की बेटी की शादी थी। वहां शगुन देकर रात को लौट रहे थे। रात को करीब 12:40 पर जैसे ही गली के नुक्कड़ पर पहुंचे। वहां आरोपियों की बाइक से मामूली स्कूटी टच हो गई। तभी बाइक सवार आरोपियों ने गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी।
रोहित और घनश्याम ने गाली देने पर टोका और रोका। इसके बाद महज 3 मिनट में दोनों की बेरहमी से हत्या कर दी गई। पुलिस ने इस मामले में मंगलवार को दोनों के शव का पोस्टमॉर्टम कराया। हर एक के शरीर पर 50 से अधिक चाकू के निशान बताए जा रहे हैं। उधर, पुलिस ने कुछ ही घंटों में दोनों हत्यारों को पकड़ने का दावा किया है। आरोपियों की पहचान ज्चालापुरी के एचएमबी कैंप निवासी 19 वर्षीय प्रदीप कोहली के तौर पर हुई है, जबकि एक लड़का नाबालिग है।