लोनी में चार नाबालिग समेत 18 महिलाओं को कराया बंधन मुक्त


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। बिहार, बंगाल समेत अन्य स्थानों से घरों में काम कराने के लिए लाई जा रही चार नाबालिग समेत 18 महिलाओं को बुधवार सुबह पुलिस ने लक्ष्मी नगर कॉलोनी स्थित एक मकान से बंधन मुक्त कराया। चाइल्ड केयर फाउंडेशन समेत अन्य फाउंडेशन ने स्थानीय पुलिस के साथ मौके पर छापा मारा। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।
लोनी कोतवाली एसएचओ ओपी सिंह ने बताया कि निठौरा रोड लक्ष्मी नगर कॉलोनी स्थित खसरा नंबर 695 से चार नाबालिग समेत 18 महिलाओं को बरामद किया गया है। पुलिस को मिली तहरीर में बताया गया है कि मिशन मुक्ति फाउंडेशन और रेस्क्यू फाउंडेशन को सूचना मिली कि लोनी के लक्ष्मी नगर में संतोष श्रीवास्तव नाम का एक व्यक्ति अन्य राज्यों से महिलाओं को बुलाकर अपने घर में अवैध तरीके से रख रहा है। इस सूचना पर मिशन मुक्ति फाउंडेशन के डायरेक्टर वीरेंद्र कुमार, रेस्क्यू फाउंडेशन से अशोक, एएचएलयू गाजियाबाद निरीक्षक ब्रजमोहन सिंह, चाइल्ड लाइन गाजियाबाद से संजय कुमार और लोनी पुलिस द्वारा छापा मारा गया। इस दौरान घर से चार नाबालिग समेत 18 महिलाओं को बरामद किया गया। इन महिलाओं ने पूछताछ में बताया गया कि आरोपी उन्हें उनकी मर्जी के खिलाफ यहां रखता है। सभी महिलाएं अपने घर जाना चाहती हैं। उन्हें उनकी मर्जी के खिलाफ काम कराया जाता है। तहरीर में आरोप लगाया है कि काम के बदले में कोई खास पारिश्रमिक भी नहीं दिया जाता। पारिश्रमिक मांगने पर पिटाई भी होती थी। लोनी एसएचओ ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। बरामद कुछ महिलाओं के साथ उनके पति भी हैं। पुलिस महिलाओं के बयान दर्ज कर रही है। आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
घरों में काम कराने के लिए भेजता था, आरोपी लेता था कमीशन
पुलिस के अनुसार आरोपी इन महिलाओं को दिल्ली एनसीआर के अलग-अलग घरों में घरेलू कामकाज के लिए भेजता था। बदले में वह महिलाओं से कमीशन भी लेता था। महिला के साथ उनके पति को भी काम पर भेजता था। आरोपी कई माह से यह काम कर रहा था। आरोपी फोन पर महिलाओं को काम पर भेजने की डीलिंग करता था। आरोपी के बताए हुए पतों पर महिला जाकर घरों का व अन्य काम करती थीं। पुलिस ने बरामद चार नाबालिगों को चाइल्ड केयर सेंटर भेज दिया है।