स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद कुख्यात बदमाश इमामुद्दीन को किया गिरफ्तार, 18 से ज्यादा मामले हैं दर्ज


दिल्ली ब्यूरो। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद एब्सेंट घोषित बदमाश इमाम उर्फ इमामुद्दीन को गिरफ्तार किया है। बदमाश के दोनों पैरों में गोली लगी है। उसे एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। आरोपी के पास से पिस्टल, तीन कारतूस, चोरी की स्कूटी और तीन महंगे फोन बरामद किए गए हैं। आरोपी पुलिसकर्मियों पर कई बार हमला कर चुका है और उसे पुलिसकमयों पर हमला करने वाले के रूप में जाना जाता था। इमाम के खिलाफ 18 से ज्यादा अपराधिक मामले दर्ज हैं।
स्पेशल सेल डीसीपी प्रमोद कुशवाह के अनुसार इंस्पेक्टर विनोद बड़ोला को इनपुट मिले थे कि नंदनगरी इलाके को एब्सेंट बीसी इमाम इंटरस्टेट बस स्टॉप व आसपास वारदात करने की फिराक में घूम रहा है। एसीपी ललित मोहन नेगी व ह्दयभूषण की देखरेख में इंस्पेक्टर विनोद बड़ोला व सुंदर गौतम की टीम ने सरायकालेखां बस स्टेंड पर घेराबंदी की। आरोपी यहां पर स्कूटी से पहुंचा। पुलिस टीम ने जब उसे सरेंडर करने को कहा तो उसने पुलिस टीम पर गोली चला दी। जवाब में पुलिस टीम ने भी गोली चलाईं। इमाम के दोनों पैरों में एक-एक गोली लर्गी। इमाम ने मौके पर तीन व पुलिसकर्मियों ने चार गोलियां चलाई थीं।
पुलिस अधिकारियों के अनुसार इमाम नंदनगरी इलाके का घोषित व एब्सेंट बदमाश है। पुलिस अधिकारी  23 फरवरी को चैक करने उसके घर गया तो उसने अपने परिवार के सदस्यों के साथ लोहे की रॉड व ईंटों से पुलिस अधिकारी को सहयोग करने की बजाय उस पर हमला कर दिया। हमले में पुलिस अधिकारी गंभीर रूप से घायल हो गया था। इस बाबत नंदनगरी थाने में मामला दर्ज हुआ था। इसने अपने साथियों के साथ वर्ष 2009 में पीसीआर में तैनात हवलदार ओंकार पर हमला कर दिया था। ओंकार अभी तक ट्रामा में हैं। ये कई बार पुलिसकमयों पर हमला कर चुका है।