गाजियाबाद में लूट के लिए बाइक सवार को 5 किलोमीटर तक दौड़ाया, की फायरिंग, कहीं भी नहीं मिली पुलिस


  • चार लाख रुपये लेकर बाइक पर निकला कलेक्शन एजेंट
  • बदमाशों ने दौड़ाया तो भगाई बाइक, लगातार बाइक से पीछा करते रहे
  • बदमाशों ने लगभग पांच किलोमीटर तक दौड़ाया फिर घेरकर की फायरिंग
  • किसी तरह जान और रुपये का बैग बचाकर भागा कलेक्शन एजेंट
गाजियाबाद ब्यूरो। बाइक सवार बदमाशों ने बुधवार को यूपी के गाजियाबाद में 5 किमी तक कलेक्शन एजेंट का पीछा किया। राजनगर एक्सटेंशन से दो बदमाश पीछे लगे थे। उनसे बचने के लिए कलेक्शन एजेंट वसंत रोड की तरफ मुड़ गया। वहां भीड़ देखकर चलती बाइक से कूदकर एक क्लीनिक की तरफ भागा। रुपयों से भरा बैग लूटने के लिए बदमाशों ने यहां फायरिंग कर दी। किसी तरह बचते हुए कलेक्शन एजेंट क्लीनिक में छुप गया। सूचना पर एसपी सिटी और सिहानी गेट थाने की पुलिस पहुंची। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में बदमाश दिखे हैं।
सिक्यॉरिटी कंपनी एसआईएस के कलेक्शन एजेंट अनूप चौधरी बुधवार को कंपनी के काम से राजनगर गए थे। वहां से 4 लाख रुपये बैग में लेकर एलआईसी राकेश मार्ग की तरफ जाने लगे। इसी दौरान लगा कि एक बाइक पर बैठे दो लोग उनका पीछा कर रहे हैं। एक व्यक्ति ने हेलमेट लगाया था, जबकि दूसरे ने कपड़े से मुंह ढका था।
भीड़ देखकर भागे बदमाश
अनूप को संदेह हुआ तो उन्होंने अपनी बाइक की स्पीड बढ़ा दी। बदमाश भी बाइक तेज कर उनका पीछा करने लगे। करीब 5 किमी भागने के बाद अनूप ने बाइक वसंत रोड की तरफ मोड़ दी। वहां एक डॉक्टर की क्लीनिक के पास भीड़ थी। तब तक बदमाश ओवरटेक कर सामने आए और उन पर पिस्टल तान दी। बचने के लिए अनूप ने बाइक से छलांग लगाकर क्लीनिक की तरफ भागे। लूटने के लिए बदमाशों ने पीछे से यहां पर फायरिंग कर दी। हालांकि गोली अनूप को नहीं लगी। फायरिंग होते ही बदमाशों की तरफ भीड़ बढ़ने लगी तो दोनों तेज रफ्तार में भाग गए।
अनूप ने कहा, बदमाश काफी दूर से पीछे लगे थे। गलत तरीके से बाइक चलाते हुए ओवरटेक किया तभी संदेह हुआ। इसके बाद उन्होंने पिस्टल निकालकर बैग मांगा। फिर तो बगैर कुछ समझे भागने लगा। बदमाश भी बैग लूटने के लिए पीछे भागते रहे। उनकी पकड़ से दूर हुआ तो उन्होंने फायरिंग कर दी। लेकिन, जब उन्होंने फायरिंग की तब तक मैं एक डॉक्टर के क्लीनिक में घुस गया था। वहां भीड़ काफी थी, इसलिए बदमाश फायरिंग करने के बाद भाग गए।
कहीं नहीं मिली पुलिस
दिन में हुई वारदात के बाद पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था पर फिर सवाल उठने लगे। दो बदमाश शहर के प्रमुख रास्तों पर लूट का प्रयास करते हैं। 5 किमी तक पिस्टल लेकर पीछा करते हैं और दो गोलियां भी चलाते हैं। लेकिन, कभी भी उनकी मुलाकात पुलिस से नहीं हुई।
सुरक्षा पर उठे फिर सवाल
गाजियाबाद में पिछले कुछ दिनों में लूट की वारदात बढ़ी हैं। फिर भी सुरक्षा में इतनी बड़ी खामी सामने आई। पुलिस बदमाशों का हौसला तोड़ने के लिए गैंगस्टर एक्ट लगाने और हिस्ट्रीशीट खोलने की बात कहती है, लेकिन ऐसी वारदात पुलिस के इस दावे को झुठला रहे हैं।