गाजीपुर इलाके में ई-रिक्शा वाले की लापरवाही से 5 साल की बच्ची की मौत


पूर्वी दिल्ली। ईस्ट जिले के गाजीपुर इलाके में एक ई-रिक्शा वाले की लापरवाही से पांच साल की बच्ची की जान चली गई। ड्राइवर की गलती से महिला अपनी बच्ची के साथ ई-रिक्शा से गिर गई तो पहिया मासूम के सिर पर चढ़ गया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतका की शिनाख्त शकीना (5) के रूप में हुई है। हादसे में जख्मी मां रोशनी को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम कराकर शकीना की बॉडी परिवार को सौंप दी है। ड्राइवर भोपाल आर्य को गिरफ्तार कर लिया गया है और ई-रिक्शा जब्त कर लिया गया है।
पुलिस के मुताबिक, शकीना परिवार के साथ गाजीपुर डेरी फॉर्म की गली नंबर-7 में रहती थी। फैमिली में पिता सलाउद्दीन, मां रोशनी, दो भाई और एक बहन हैं। शकीना सबसे छोटी थी। पिता गाजीपुर में ही बिरयानी की रेहड़ी लगाते हैं। सलाउद्दीन ने पुलिस को बताया कि रोशनी सोमवार को कल्याणपुरी स्थित बैंक जा रही थी। वह अपने साथ एक बेटे और दोनों बेटियों को भी ले गई थी।
लौटने वक्त रोशनी ने कल्याणपुरी के जलेबी चौक से ई-रिक्शा लिया। आरोप है कि ड्राइवर भोपाल बेहद लापरवाही से ई-रिक्शा चला रहा था। गाजीपुर इलाके में शराब के ठेके से आगे बढ़ने पर अचानक ई-रिक्शा उछल गया, जिससे रोशनी और शकीना नीचे गिर गए। रोशनी तो मामूली जख्मी हुई, लेकिन शकीना के सिर पर उसी ई-रिक्शा का पहिया चढ़ गया। दोनों को एलबीएस अस्पताल ले जाया गया, जहां शकीना को मृत घोषित कर दिया गया। रोशनी को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई। पुलिस ने आरोपी ड्राइवर भोपाल आर्य को गिरफ्तार कर लिया।