दिल्ली में जबरन धर्म परिवर्तन कर कराया जा रहा था निकाह, महिला आयोग ने रुकवाई नाबालिग लड़की की शादी


दिल्ली ब्यूरो। देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीर पूरी इलाके में एक नाबालिग लड़की का धर्म-परिवर्तन करवाकर उसका विवाह कराए जाने की कोशिश करने का संगीन मामला सामने आया है। कथित तौर पर लड़की गरीब परिवार की है और उसका धर्म परिवर्तन करवाकर एक लड़के से निकाह पढ़ाया जा रहा था, लेकिन एक अज्ञात व्यक्ति की सूचना पर दिल्ली महिला आयोग की टीम मौके पर पहुंची और शादी रुकवाई। लड़की के पुनर्वास की कोशिश की जा रही है।
जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर एक बजे निकाह का कार्यक्रम चल रहा था। लड़का हाथ में मेहंदी लगाकर विवाह मंडप में लड़की का इंतजार कर रहा था। लेकिन इसी बीच दिल्ली महिला आयोग की टीम को सूचना मिली कि लड़की नाबालिग है और उसकी जबरदस्ती शादी कराई जा रही है। इस सूचना पर आयोग की टीम मौके पर पहुंची और शादी रुकवाई।
आयोग की टीम ने जब लड़की से पूछा, तब उसने बताया कि उसका जन्म 2005 में हुआ है और वह इस समय 15-16 वर्ष की है। इसके बाद आयोग ने विवाह रुकवाया। इसके लिए उसे स्थानीय लोगों का कड़ा विरोध भी झेलना पड़ा।
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि यह बेहद दुखद स्थिति है कि इतनी जागरूकता के बाद भी दिल्ली जैसे शहरों में भी बाल विवाह की घटनाएं सामने आती हैं। उन्होंने कहा कि आयोग महिलाओं की स्थिति सुधारने के लिए लगातार प्रयास कर दी है।