इंदौर के एमवाय अस्पताल की मॉर्चुरी में अय्याशी, मुर्दाघर में लड़कियों के साथ पकड़े गए कर्मचारी


इंदौर। इंदौर का एमवाय अस्पताल के बारे में हम सभी लोग जानते हैं। यह एमपी का सबसे बड़ा अस्पताल है। किसी न किसी वजह से हमेशा चर्चा होती है। कभी अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए, यहां से नवजात की चोरी हो जाती है। कभी डॉक्टरों की लापरवाही से मरीज की मौत हो जाती है। कुछ दिन पहले एक और वजह चर्चा थी कि अस्पताल की मॉर्चुरी 158 दिन तक एक शव पड़ा रहा, लेकिन किसी ने सुध नहीं ली। अब जो सामने आई है, उसे देख आप कह सकते हैं कि यहां के कर्मचारी तो किसी और काम में मगन रहते हैं।
अय्याशी का अड्डा बन जाता है मॉर्चुरी
सभी अस्पतालों की मॉर्चुरी में मरीजों की मौत के बाद शव रखा जाता है। इंदौर के महराजा यशवंतराव अस्पताल में भी यहीं होता है। मगर हमारी और आपकी सोच से विपरीत इस अस्पताल की मॉर्चुरी का नजारा होता है। सोशल मीडिया पर एक मरीज के परिजनों ने कुछ तस्वीरें वायरल की हैं। इन तस्वीरों में मॉर्चुरी में तैनात कर्मचारी, रात में लड़कियों के साथ हवस की भूख मिटा रहे हैं।
नजारा देख दंग रह गए लोग
दरअसल, मंगलवार की रात अस्पताल की मॉर्चुरी में कुछ लोग शव लेकर पहुंचे थे। पहली नजर में मॉर्चुरी का नजारा देख उन्हें यकीन नहीं हुआ है। शव लेकर आए लोगों ने देखा कि मॉर्चुरी में तैनात कर्मचारी लड़कियों के साथ अंदर में रंगरेलियां मना रहे हैं। इन लोगों ने जब कर्मचारियों को टोका कि ये लड़कियां कौन हैं तो कहा आप अपना काम कर जाओ।
शव लेकर आए लोगों ने खींची तस्वीर
कर्मचारियों ने लोगों से कहा कि आप यहां शव रखो और जाओ। उसके बाद लड़कियों के साथ वे लोग बाहर निकले। तभी वहां मौजूद लोगों ने लड़कियों के साथ कर्मचारियों की तस्वीर खींच ली। उसके बाद इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर डाल दिया। अब तस्वीरें वायरल हैं। उसके बाद अस्पताल प्रबंधन भी हरकत में आया है।
दोनों कर्मचारियों को हटाया
मॉर्चुरी में काम करने वाले दोनों कर्मचारी आउटसोर्सिंग के जरिए रखे गए थे। तस्वीर सामने आने के बाद कंपनी ने दोनों को हटा दिया है। एमवाय अस्पताल के अधीक्षक पीएस ठाकुर ने बताया कि दोनों कर्मचारियों को बाहर कर दिया गया है। वहीं, कंपनी को नोटिस जारी किया गया है। इन तस्वीरों के सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधन पर कई सवाल उठ रहे हैं।
मॉर्चुरी में काम का ठेका यूडीएस कंपनी को है। लोग बताते हैं कि ये कर्मचारी कई दिनों से यहां लड़की लेकर आ रहे थे। वहीं, कंपनी ने तर्क दिया है कि हमने कर्मचारियों को सात दिन के लिए निलंबित कर दिया है। कंपनी ने कहा कि प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि लड़कियां उनकी रिश्तेदार थीं, वह उनके लिए खाना लेकर आती हैं। हम जांच कर रहे हैं।