प्यार के साथ जीवन-संघर्ष की कहानी बयां करती है ‘लव जे एक्शन’ : केवल सेठी


 ‘बठिंडा एक्सप्रेस’ के जरिये फिल्म-टीवी शो के निर्माण में कदम रखने के बाद ‘जिंदगी की महक’, ‘गुलाम’ जैसे हिट टीवी सीरियल देने वाले केवल सेठी निर्मित एक रोमांटिक सीरियल ‘पिंजरा खूबसूरती का’ कलर्स चैनल पर पहले से ही धूम मचा रहा है। लेकिन, फिलहाल इनकी चर्चा सोनी लिव पर हाल ही में शुरू हुए वेब सीरीज ‘लव जे एक्शन’ को लेकर हो रहा है। आखिर, इस वेब सीरीज में खासियत है, क्यों उन्हें ओटीटी प्लेटफार्म की ओर रुख करना पड़ा, क्या और कैसा रेस्पांस मिल रहा है... इन तमाम सवालों के साथ हमने केवल सेठी से बात की-
‘लव जे एक्शन’ किस तरह की वेब सीरीज है और इसके जरिये आप क्या कहना चाहते हैं?
-क्या आपको कभी किसी से प्यार हुआ है? क्या आपको प्यार में धोखा मिला है? क्या आपने प्यार के लिए मुसीबतों का सामना किया है? वेब सीरीज ‘लव जे एक्शन’ इन्हीं सब सवालों का अपने हिसाब से जवाब देता है। दरअसल, यह वेब सीरीज ह्यूमन रिलेशनशिप पर बेस्ड है, जो प्यार के मायने समझाता है। इसके जरिये हम यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि आज का युवा प्यार को किस नजरिये से देखता है और प्यार के प्रति उसका नजरिया क्या है।
यानी यह वेब सीरीज भी आपके पुराने शोज की तरह रोमांटिक मूड का है?"
-नहीं, यह विशुद्ध रोमांटिक कहानी नहीं है, बल्कि प्यार के साथ जीवन-संघर्ष की कहानी बयां करता है ‘लव जे एक्शन’। कुछ लोग प्यार और सेक्स में घनिष्ठ संबंध मानते हैं, क्योंकि उनकी सोच होती है कि सेक्स उसी के साथ संभव है जिसके साथ आप प्रेम करते हैं। वहीं, कुछ ऐसी सोच वाले लोग भी हैं जो सेक्स और प्यार को मौका-ए-दस्तूर मान केवल टाइमपास का जरिया मानते हैं। यानी, वेब सीरीज ‘लव जे एक्शन’ में प्यार और द्वंद्व, दोनों एक साथ चलता है, और यही इसकी खासियत भी है।
वेब सीरीज की कामयाबी आमतौर पर उसकी कास्टिंग पर भी निर्भर करती है। आपने किरदारों के लिए कलाकारों का चयन किस आधार पर किया?
-हमने पहले से ही सोच रखा था कि नामचीन या फिर किसी खास इमेज में कैद कलाकार को वेब सीरीज का हिस्सा नहीं बनाएंगे। इसके पीछे की सोच यह थी कि यह किरदार प्रधान कहानी है। अगर कोई खास इमेज वाला कलाकार शामिल होता तो उसके आगे किरदार का कद छोटा पड़ जाता। ऐसे में हमने कम पॉपुलर एवं नए कलाकारों को तरजीह दी, जिसका हमें फायदा भी मिल रहा है। चाहे अनूप सिंह ढाका हो या पुरु छिब्बर या फिर काव्या या प्रशांत... हर किसी ने अपने किरदार में जान डाल दिया है। मेरे पार्टनर सुमित चौधरी एवं डायरेक्टर सौरभ तिवारी ने इन कलाकारों से बेहतरीन काम भी लिया है। यही वजह है कि कहानी किरदार प्रधान बन गई है, न कि कलाकार प्रधान।
"ओटीटी प्लेटफार्म पर यह आपका पहला कदम है। कैसा अनुभव रहा ?
-बेहतरीन, क्योंकि जब आपके पहले कदम ही सधे पड़ते हैं तो उससे आपको आत्मबल मिलता है। लोगों की सराहना मिलती है, तो हौसला बढ़ता है। आप महसूस करते हैं कि वाकई आपने कुछ अलग किया है। वेब सीरीज ‘लव जे एक्शन’ के साथ ओटीटी प्लेटफार्म पर हमारी शुरुआत वाकई संतोषजनक है। सच कहूं तो मनोरंजन का यह नया फॉर्मेट, यानी ओटीटी पसंद आने के कारण ही हमने इस पर कदम रखा। मनोरंजन का यह नया प्लेटफार्म आज कुछ ज्यादा पॉपुलर भी हो रहा है।
लेकिन, आजकल ओटीटी प्लेटफार्म पर मनोरंजन के बहाने जो अश्लीलता एवं गाली-गलौज परोसने का ट्रेंड चल पड़ा है, उससे तो सरकार भी खफा है और उस पर पाबंदी लगाने की तैयारी चल रही है?
-सरकार को ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया है। अगर आप आजादी एवं स्वतंत्रता के नाम पर उच्छृंखलता का सहारा लेंगे, तो कहीं न कहीं खामियाजा भुगतने के लिए भी तैयार रहना पड़ेगा। मेरा मानना है कि मनोरंजन का कोई भी माध्यम क्यों न हो, वहां मर्यादा का पालन करना बेहद आवश्यक है। हमें कोई कहानी परोसने से पहले यह ध्यान में रखना होगा कि इसका दर्शक हमारा परिवार भी होगा। यही वजह है कि कंटेंट को लेकर सजगता दिखाना जरूरी है। हमें व्यवस्था के साथ मर्यादा का पालन करते हुए ही कोई कदम आगे बढ़ाना चाहिए। परंपरा और मर्यादा को तोड़ना या संस्कृति से खिलवाड़ करने की अनुमति तो किसी को भी नहीं दी जा सकती।
आगे की क्या प्लानिंग है?
-फिलहाल तो इसी वेब सीरीज पर फोकस कर रहा हूं, लेकिन कुछ अच्छी कहानियां भी हैं, जिन पर काम चल रहा है। दरअसल, पिछला साल तो कोरोना की भेंट ही चढ़ गया और अभी भी हालात संभले नहीं हैं, इसलिए मनोरंजन उद्योग को भी पटरी पर आने में वक्त लग रहा है। लेकिन, बहुत जल्द फिल्मों पर भी काम शुरू करने की योजना है।