लोनी में कहासुनी के बाद दोस्त की चाकू से गोदकर हत्या


  • झगड़े के दो घंटे बाद आरोपियों ने दिया वारदात को अंजाम
  • युवक अपने भांजे को पड़ोस की दुकान से सामान दिलाने गया था
  • परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी
  • बार्डर थाना क्षेत्र की राजीव गार्डन कॉलोनी का मामला
प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। लोनी के राजीव गार्डन कॉलोनी में बुधवार रात कहासुनी के बाद आरोपियों ने घर से बुलाकर दोस्त की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। हत्या से दो घंटे पहले दोस्त और आरोपियों में गली के बाहर झगड़ा हुआ था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों ने आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अपने फोन को बंद कर फरार हैं। पुलिस ठिकानों पर दबिश दे रही है। 
राजीव गार्डन कॉलोनी में कुणाल (18) परिवार के साथ रहते थे। घर में पिता प्रवीन, भाई विशाल और दादी समेत अन्य लोग हैं। उनके पिता घर से कुछ दूरी पर कपड़े सिलाई का काम करते हैं। कुणाल पिता का हाथ बंटाते थे। प्रवीन ने बताया कि बुधवार को उनकी बेटी मिलने आई थी। कुणाल अपनी भांजे अभीवान को गली के बाहर एक दुकान से सामान दिलाने के लिए गया था। इस दौरान दुकान के पास कुणाल के दो दोस्त खड़े थे। यहां दोस्तों और कुणाल के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। 
देखते ही देखते दोनों पक्षों में गाली-गलौज हो गई। दुकानदार ने समझाने की कोशिश की। आरोप है कि इस दौरान कुणाल की दुकानदार से भी कहासुनी हो गई थी। आसपास के लोगों के समझाने के बाद दोनों पक्ष शांत हो गए। कुणाल अपने घर आ गए। शाम करीब साढ़े छह बजे कुणाल के दोस्त और उनके अन्य साथी उसके घर पर आ गए। यहां कुणाल के परिजनों और आरोपियों में कहासुनी हो गई। 
इस दौरान आरोपियों ने कुणाल को घर से बाहर बुलाया। कुणाल आरोपियों के कहने पर घर से बाहर आ गया। गली के बाहर आते ही उसके दोस्तों ने कुणाल पर चाकुओं से हमला कर दिया। हमले में कुणाल लहूलुहान होकर वहीं गिर गया। इस दौरान कुणाल के पिता पीछे से भागते हुए आए। आरोपी वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए। परिजनों ने घायल को पास के एक अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत गंभीर होने पर उसे दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने दो आरोपी अनुज और सुमित को गिरफ्तार किया है।