आरके पुरम थाने ने महिलाओं के लिए लगाया सैनिटरी नैपकिन डिस्पेंसर


दक्षिणी दिल्ली। दक्षिण-पश्चिमी जिले के आरके पुरम थाने में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सैनिटरी नैपकिन डिस्पेंसर लगाया गया। ऐसा करने वाला यह दिल्ली का पहला पुलिस थाना बन गया है। इस डिस्पेंसर से थाने के स्टाफ के साथ ही कोई भी महिला या व्यक्ति सैनिटरी नैपकिन प्राप्त कर सकता है।
यह नैपकिन बाजार दर से काफी कम में यानि पांच रुपये प्रति पीस मिलेगा। दरअसल, कोई इस सुविधा का दुरुपयोग न करे, इसलिए यह शुल्क रखा गया है। सोमवार को बतौर मुख्य अतिथि नई दिल्ली रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त जसपाल सिंह ने इस डिस्पेंसर का उद्घाटन किया। इस दौरान जिले के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त अमित गोयल व अमित कौशिक भी मौजूद रहे।
एसएचओ इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने बताया कि थाने के आसपास कई झुग्गियां हैं जहां गरीब महिलाएं रहती हैं। आर्थिक रूप से कमजोर तबके के परिवार में लोग आज भी इस विषय पर बात नहीं करते हैं। इन घरों की महिलाएं मेडिकल स्टोर पर सैनिटरी नैपकिन लेने जाने में झिझकती हैं। संगिनी सहेली एनजीओ की संस्थापक प्रियल भारद्वाज ने उन्हें यहां पर डिस्पेंसर लगाने में सहयोग किया।
वहीं, फैशन डिजाइनर रीना ढाका व चारू पाराशर ने थाने की महिला स्टाफ व आसपास की झुग्गी व कालोनी में रहने वाली महिलाओं व लड़कियों को इस बारे में जागरूक किया। गौरतलब है कि इस परिसर में साउथ कैंपस थाना भी है। इसलिए साउथ कैंपस थाने के महिला स्टाफ व वहां आने वाले फरियादियों के लिए भी सुविधा हो गई है। थाने के पुरुष स्टाफ भी अपने घर की महिलाओं के लिए यहां से नैपकिन प्राप्त कर सकेंगे।