प्रयागराज में मुन्ना बजरंगी और मुख्तार अंसारी गैंग के शूटरों वकील पांडे और अमजद का एनकाउंटर


  • मुन्ना बजरंगी और मुख्तार अंसारी के शार्प शूटर वकील पांडेय और अजमद एनकाउंर में ढेर
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने घोषित कर रखा था 50,000 का इनाम
  • यूपी एसटीएफ ने प्रयागराज के अरैल में किया दोनों बदमाशों का एनकाउंटर
  • 2013 में दोनों शार्प शूटरों ने वाराणसी के तत्कालीन डेप्युटी जेलर अनिल त्यागी की हत्या में थे नामजद
प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में यूपीएसटीएफ ने दो बदमाशों को मुठभेड़ में मार गिराया है। यह एनकाउंटर अरैल में बुधवार देर रात हुआ। दोनों मुन्ना बजरंगी गैंग के शूटर थे और उनके ऊपर 50,000 रुपये का इनाम था। यूपी पुलिस को कई दिनों से दोनों बदमाशों की तलाश थी। मारे गए बदमाशों के पास से एक पिस्तौल और जिंदा कारतूस भी मिले हैं। एनकाउंर में मारे गए बदमाश वकील पांडे उर्फ राजीव पांडे और एचएस अमजद हैं। कहा जा रहा है कि दोनों ने 2013 में वाराणसी के तत्कालीन डेप्युटी जेलर अनिल त्यागी की निर्मम हत्या कर दी थी। हत्या के बाद दोनों फरार हो गए थे। बीजेपी ने दावा किया था कि दोनों को समाजवादी सरकार में संरक्षण मिला था।
किसी बड़े शख्स की हत्या की बना रहे थे योजना?
एसटीएफ का दावा है कि सूत्रों से पता चला कि दोनों किसी बड़े शख्स की हत्या की साजिश कर रहे हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों बदमाशों को घेर लिया और उन्हें सरेंडर करने को कहा तो उन्होंने भागने का प्रयास किया और पुलिस पर फायरिंग की। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की और दोनों बदमाशों को मार गिराया।
मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी के इशारे पर करते थे हत्याएं
दोनों बदमाश मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी के इशारे पर हत्याएं करते थें। कुछ ही महीने पहले भदोही के विधायक विजय मिश्रा ने भी दोनों शूटरों से अपनी जान को खतरा बताया था। उन्होंने दावा किया था कि बदमाशों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है।