नशे में मासूम बच्ची से किया था दुष्कर्म, फिर गला दबाकर दी मौत, शव के साथ भी की बर्बरता


बुलंदशहर। बुलंदशहर के अनूपशहर थाना क्षेत्र के एक गांव में 12 वर्षीय बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने के आरोपी हरेंद्र को एसओजी ने हिमाचल प्रदेश के शिमला से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने दुष्कर्म के बाद बच्ची की गला दबाकर हत्या की और फिर शव को घर में गड्ढा खोदकर कर दबा दिया था। पुलिस ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। अनूपशहर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी व्यक्ति ने गत 28 फरवरी को थाने पर तहरीर दी थी। जिसमें उसने बताया था कि गत 25 फरवरी को उसकी पत्नी व दो बच्चियां घर से खेत पर काम करने के लिए गई थीं। जहां शाम करीब चार बजे उन्होंने खाना खाया था। जिसके बाद उसकी 12 वर्षीय एक पुत्री आसपास पानी का कोई स्रोत न होने पर खेत के पास ही स्थित हरेंद्र के घर में पानी पीने के लिए गई थी। लेकिन, इसके बाद वह वापस नहीं लौटी।
 शाम करीब छह बजे बच्ची की मां और बहन घर में पहुंचे। लेकिन, वह वहां नहीं थी। वहीं, मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे पुलिस की एक टीम आरोपी के घर पहुंची और ताला लगा होने पर दीवार कूद कर अंदर गई। जहां उन्होंने खोजबीन शुरू की। इस दौरान एक सिपाही का पैर घर के एक हिस्से में मामूली धंसा। शक होने पर ग्रामीणों को बुलाकर उक्त स्थान पर खोदाई कराई गई। खोदाई के बाद गड्ढे में लापता बच्ची का शव दबा मिला।
वारदात के बाद परिजनों ने दुष्कर्म के बाद हत्या कर शव को मिट्टी में दबाने का आरोप लगाया। इसके बाद पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी हुई थी। बताया गया कि सर्विलांस के माध्यम से मंगलवार देर शाम को आरोपी की लोकेशन हिमाचल प्रदेश के शिमला क्षेत्र की आई। उक्त स्थान पर आरोपी की भाभी का मायका है। एसओजी टीम देर रात शिमला के लिए रवाना हुई और बुधवार सुबह आरोपी को उसकी भाभी के मायके से गिरफ्तार कर लिया। नशे की हालत में दिया वारदात को अंजाम
पूछताछ में आरोपी हरेंद्र ने बताया कि 23 फरवरी को वह हरियाणा से अपने गांव लौटा था। वह हरियाणा से दो बोतल शराब भी लाया था। 25 फरवरी की सुबह उसने अपने दोस्तों के साथ घर पर ही शराब पी थी। जिसके बाद वह नशे में हो गया था, उसके दोस्त वहां से चले गए थे। शाम को पीड़िता उसके घर आई थी। नशे की हालत में वह बहक गया और पीड़िता को दबोच लिया। बताया कि दुष्कर्म के बाद उसने बच्ची का गला दबा कर हत्या कर दी थी। साथ ही उसके चेहरे पर भी किसी भारी वस्तु से वार किया, जिससे उसकी शिनाख्त न हो सके। उसके बाद घर में ही गड्ढा खोदकर उसने बच्ची को दबा दिया। लेकिन, उसे दबाने के बाद उक्त स्थान पर ही उसके सभी कपड़ों को जला दिया था। वारदात के बाद वह सहम गया और 26 फरवरी को होश में आने पर वह डर गया था और शिमला भाग निकला। 
नहीं निकल सकी आवाज, आरोपी ने दबा दिया था मुंह
आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वारदात के दौरान उसे डर था कि अगर वह चीखने लगी तो उसका राजफाश हो जाएगा और कोई आ धमकेगा। इस कारण उसने बच्ची का मुंह अपने हाथ से दबा दिया था।
आरोपी को हिमाचल प्रदेश के शिमला क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात कही है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके शरीर के हिस्सों पर चोट के निशान पाए गए हैं। पूर्ण पुष्टि के लिए स्लाइड भेजी गई है। आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। - संतोष कुमार सिंह, एसएसपी