के एन मोदी साइंस एंड कॉमर्स कॉलेज मोदीनगर में विश्व जल दिवस के अवसर पर एक संगोष्ठी का किया गया आयोजन


पुनीत कुमार,(मोदीनगर)। दिनांक 22-3- 2021 को डॉक्टर के एन मोदी साइंस एंड कॉमर्स कॉलेज मोदीनगर में विश्व जल दिवस के अवसर पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें विश्व जल दिवस के उद्देश्य, विश्व जल संरक्षण के महत्व पर ध्यान केंद्रित करने के अतिरिक्त सभी को सुरक्षित साफ जल उपलब्धता  सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से आमजन को जल संरक्षण के प्रति जागरूक करने का काम किया गया। जिसका उद्देश्य लोगों के बीच में जल संरक्षण का महत्व तथा साफ पीने योग्य जल का महत्व के बारे में बताना था जल ही जीवन है, जल है तो कल है, जल के बिना जीवन संभव नहीं। कॉलेज के प्रधानाचार्य सतीश चंद्र अग्रवाल ने बढ़ती आबादी और इसके परिणाम स्वरूप बढ़ते औद्योगीकरण के कारण खपत बढ़ने से जल की आपूर्ति बनाए रखने के लिए जल के अनावश्यक दोहन को बंद करने की अपील की। कार्यक्रम का संचालन करते हुए कॉलेज के एनसीसी अधिकारी प्रवीण जैनर ने बताया कि इस वर्ष विश्व जल दिवस का थीम 'पानी का महत्व' रखा गया है तथ 'जल बचाओ जहां भी मिले जैसे भी मिले' को अमल करने के लिए छात्रों एवं शिक्षकों को जागरूक किया गया।
कॉलेज में जीव विज्ञान प्रवक्ता नीतू चौधरी  ने विश्व के हर नागरिक को पानी की महत्ता से अवगत कराने तथा जल के महत्व को जानने का और पानी के संरक्षण के विषय में जागरूक करने की बात कही। मेजर तेजपाल सिंह ने जल ही जीवन है भविष्य के लिए स्वच्छ पीने योग्य जल की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु प्रेरित किया। लालमोहन सिंह, तेजवीर,  भावना सिंह, पूनम शाही में ने भी जल संरक्षण हेतु उपायो संबंधी उपयोगी बातें बताई। इस अवसर पर संजीव चौधरी, राजीव जांगिड़ ,गौरव त्यागी, धर्मवीर, मधुकांत, सीमा सिंह, शिवानी बागोरिया, हवलदार जोगेश्वर आदि उपस्थित रहे। दूसरी ओर 35 यूपी बटालियन एनसीसी मोदीनगर के कमान अधिकारी कर्नल हरिंदर सिद्दू (सेना मेडल) के निर्देशन में वाहिनी  के तत्वाधान में विभिन्न कॉलेजों चौधरी चरण सिंह इंटर कॉलेज पतला, आदर्श इंटर कॉलेज फरीद नगर, श्री कृष्ण इन इंटर कॉलेज निवाड़ी, एमएम पीजी कॉलेज मोदीनगर, केंद्रीय विद्यालय मुरादनगर ,के एन इंटर कॉलेज मुरादनगर, श्री हंस इंटर कॉलेज मुरादनगर एवं महर्षि दयानंद इंटर कॉलेज गोविंदपुरी के एनसीसी कैडेट्स के द्वारा विश्व जल दिवस के अवसर पर जल संरक्षण करने एवं पानी की बर्बादी रोकने हेतु जागरूकता रैलीओं का आयोजन किया गया ,जिसमें एनसीसी कैडेट्स ने सभीह लोगों को जल का दोहन कम करने ,जल का संरक्षण करने तथा साफ जल की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु लोगों को जागरूक करते हुए पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया तथा प्राकृतिक संसाधनों का बचाने और पानी को व्यर्थ होने से बचाने के लिए लोगों को जागरूक किया।