पृथक बुन्देलखण्ड राज्य के लिए बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति के केन्द्रीय अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय ने भाजपा प्रदेश महामंत्री प्रियंका सिंह रावत को दिया ज्ञापन


फतेहपुर ब्यूरो। बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति के केंद्रीय अध्यक्ष इं. प्रवीण पांडेय ने जिलाध्यक्ष फतेहपुर अंशू सिंह परमार एवं बुन्देली समाज के युवा साथियों के साथ भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा को भाजपा कार्यालय में दो दिवसीय प्रवास में आईं भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश महामंत्री प्रियंका सिंह रावत के माध्यम से अलग बुन्देलखण्ड राज्य को लेकर ज्ञापन दिया। आपको अवगत कराते चलें कि बीआरएस के नाम से चर्चित बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति संगठन अनवरत शासन, प्रशासन जगाओ, इन्हें ज्ञापन पहुँचाओ, बुन्देलखण्ड राज्य बनाओ अभियान जोरो से चला रहा है। बीआरएस केंद्रीय अध्यक्ष इं प्रवीण पांडेय बताते है कि दो राज्यों के बीच पिस रहे बुंदेलखंड को विकास की मुख्य धारा में लाने के लिए 11 फरवरी को बजट सत्र के दौरान हमीरपुर सांसद पुष्पेंद्र सिंह चंदेल ने पृथक बुंदेलखंड राज्य का मुद्दा लोकसभा में उठाया था। हम लोग चाहते हैं कि आप भी संसद में बुंदेलखंड राज्य का मुद्दा उठाकर हम बुंदेलों की भावनाओं को संसद में मुखर करने में सहयोग करें।
 हम लोग केन्द्रीय मंत्री व फतेहपुर की सांसद साध्वी निरंजन ज्योति, केन्द्रीय मंत्री व दमोह के सांसद प्रहलाद सिंह पटेल, मध्यप्रदेश के भाजपा अध्यक्ष व खजुराहो के सांसद वीडी शर्मा, झांसी के सांसद अनुराग शर्मा, बांदा के सांसद आरके पटेल व जालौन के सांसद भानु प्रताप वर्मा जी से भी संसद में बुंदेलखंड राज्य का मुद्दा उठाने का आग्रह कर रहे हैं। सभी सांसदों को हमने खून से खत लिखकर भेजे हैं। बजट सत्र का दूसरा भाग 8 मार्च से पुनः शुरू होना है। अगर आप लोग भी बुंदेलखंड राज्य का मसला संसद में उठाने में सहयोग करती हैं तो पूरा बुंदेली समाज आपका ऋणी रहेगा। वही केंद्रीय प्रवक्ता देवब्रत त्रिपाठी ने कहा कि अलग राज्य बनाने के लिए इससे अच्छा मौका फिर नहीं मिलेगा। केन्द्र के साथ यूपी और एमपी दोनों में भाजपा की सरकार है। वैसे भी भाजपा हमेशा छोटे राज्यों की पक्षधर रही है। अगर ऐसा न होता तो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी एकसाथ तीन नये राज्य कैसे बना देते। ज्ञापन कार्यक्रम में केंद्रीय अध्यक्ष इं प्रवीण पांडेय, युवाशक्ति जिलाध्यक्ष अंशू सिंह परमार, केंद्रीय प्रवक्ता देवब्रत त्रिपाठी, हिमांशु त्रिपाठी, शुभम द्विवेदी, नीरज बाजपेयी आदि युवा साथी मौजूद रहे।