जिलाधिकारी गाजियाबाद द्वारा खंड विकास कार्यालय रजापुर का किया गया आकस्मिक निरीक्षण


गाजियाबाद ब्यूरो। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय को आज खंड विकास कार्यालय भोजपुर का निरीक्षण करना था परंतु ब्लैक बॉक्स के माध्यम से प्राप्त शिकायत के संज्ञान में आने पर जिलाधिकारी सीधे खंड विकास कार्यालय रजापुर आकस्मिक निरीक्षण करने पहुंचे। सर्वप्रथम जिलाधिकारी द्वारा उपस्थिति पंजिका का परीक्षण किया गया। मौके पर बी0एन0 यादव जे0ई0 एम0आई0 एवं मो0 अजीज ए0डी0ओ0 एग्रीकल्चर अनुपस्थित पाए गए जिस पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए चेतावनी दी गई एवं कहा गया कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने तय समय सीमा में कार्यालय में उपस्थित रहकर अपना कार्य संपादित करेंगे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कार्यालय में फाइलों का रख-रखाव देखा एवं कार्यालय के विभिन्न पटलों का निरीक्षण किया। 

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बनाई गई हेल्प डेस्क मानकों के अनुसार सही नहीं पाए जाने पर निर्देश दिए कि आगंतुक जनता को मास्क लगाने एवं कार्यालय परिसर में प्रवेश के समय सैनिटाइजेशन के लिए जागरूक करें। उन्होंने मौके पर कार्यालय को सैनिटाइज, साफ-सफाई एवं सौंदर्यीकरण कराने के निर्देश दिए। कार्यालयों में रखे दस्तावेजों की जांच में जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि अलमारियों में रखें दस्तावेजों को व्यवस्थित ढंग से रखें साथ ही उन्होंने समस्त स्टाफ को दफ्तर में पत्रावलियों को सुव्यवस्थित तरीके से रखे जाने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान भंडार कक्ष की इन्वेंटरी का रखरखाव बहुत खराब पाया गया जिस पर जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि इन्वेंटरी की प्रॉपर लिस्टिंग कर स्टॉक रजिस्टर मेंटेन किया जाए।

 निरीक्षण के दौरान जिला अधिकारी के संज्ञान में लाया गया कि अरुण कुमार सिंह नामक कर्मचारी द्वारा फर्जी एवं कूट रचित दस्तावेज लगाकर कार्यालय में अकाउंटेंट के पद पर नौकरी पाई गई थी जिसकी जानकारी संज्ञान में आते ही संबंधित कर्मचारी के विरुद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई जा चुकी है। इस संबंध में जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने निर्देश दिए कि प्रकरण में जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल की जाए। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने उक्त कर्मचारी के कार्यकाल का ऑडिट कराने के भी निर्देश दिए हैं ताकि यदि कर्मचारी द्वारा कोई वित्तीय अनियमितता की गई है तो संबंधित कर्मचारी से वसूली की कार्यवाही भी सुनिश्चित कराई जा सके।