मिर्च झोंकना गैंग का पुराना स्टाइल, गोगी भी हुआ था दिल्ली पुलिस की कस्टडी से फरार


दिल्ली ब्यूरो। मकोका के तहत तिहाड़ जेल में बंद जितेंद्र मान उर्फ गोगी का राइंड हैंड है कुलदीप उर्फ फज्जा। स्पेशल सेल ने 3 मार्च 2020 को गुड़गांव में जब गोगी गैंग का खात्मा करने के लिए घेरा डाला था तो गोगी ने सरेंडर करने का ऐलान करते हुए एनकाउंटर की आशंका जताने वाला विडियो वायरल कर दिया था। नया बांस का रहने वाला फज्जा उस वक्त भी गोगी के साथ ही था। दिल्ली पुलिस के हत्थे गोगी चार साल की कड़ी मशक्कत के बाद चढ़ा था। फज्जा तभी से जेल में बंद था। डीयू से बॉटनी ऑनर्स कर चुका फज्जा टेक्नॉलजी के मामलों में माहिर है। इसके खिलाफ मर्डर, जानलेवा हमले, रंगदारी, अपहरण और लूटपाट समेत करीब कई मामले बताए जा रहे हैं। मिर्च झोंककर पुलिस कस्टडी से भागना इस गैंग का पुराना स्टाइल है।
गोगी भी मिर्च झोंक हुआ था फरार
दिल्ली-हरियाणा पुलिस के लिए सिरदर्द बना अलीपुर का गोगी 30 जुलाई 2016 की सुबह बहादुरगढ़ में दिल्ली पुलिस की कस्टडी से मिर्च झोंककर फरार होने का कारनामा कर चुका है। हरियाणा रोडवेज की बस से नरवाना कोर्ट में पेशी पर ले जाते वक्त बहादुरगढ़ में दो कारों में सवार 10 बदमाशों ने बस को ओवरटेक कर रुकवा लिया था। पहले से ही बस में बैठे कुछ बदमाशों ने पुलिसकर्मियों की आंखों में मिर्च झोंक दी और फायर करते हुए गोगी को छुड़ाकर ले गए थे। गोगी पुलिसवालों के असलहे भी लूट ले गया था। इसके बाद गोगी अपने गुर्गों के साथ दिल्ली और हरियाणा में ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती देता रहा।
फरार होने के बाद मचाई मारकाट
पुलिस का दावा है कि फरार होने के बाद गोगी ने कुलदीप उर्फ फज्जा समेत गैंग के दूसरे गुर्गों के साथ हरियाणवी सिंगर और डांसर हर्षिता दहिया की पानीपत में अक्टूबर 2017 में हत्या की। हर्षिता के जीजा दिनेश कराला ने गोगी को सुपारी दी थी। नवंबर 2017 में ताजपुर निवासी टीचर दीपक बालियान का स्वरूप नगर में मर्डर हुआ। जनवरी 2018 में अलीपुर के रवि भारद्वाज को 25 गोलियां मार छलनी कर दिया। जून 2018 में बुराड़ी में टिल्लू गैंग से हुई गैंगवॉर में 4 लोग मारे गए और 5 जख्मी हुए। नरेला में अक्टूबर 2019 में आम आदमी पार्टी के नेता वीरेंद्र मान उर्फ कालू को 26 गोलियां मार मौत के घाट उतार दिया। 19 फरवरी 2020 को रोहिणी के कंझावला में आंचल उर्फ पवन की 50 राउंड फायरिंग कर हत्या की।
चाल साल बाद चढ़ा था हत्थे
दिल्ली पुलिस ने गोगी गैंग के लगातार बढ़ रहे कारनामों पर लगाम लगाने के लिए मकोका लगा दिया। कई टीमें तलाश में लगी थी। स्पेशल सेल ने 3 मार्च 2020 को तीन गुर्गों समेत गोगी को गुड़गांव से दबोच लिया। सेल ने अपने एके-47 से लैस स्वॉट स्क्वॉड के साथ घेरा डाला तो गोगी ने एनकाउंटर के डर से खुद सरेंडर करने का विडियो वायरल कर दिया। सूत्र बताते हैं कि विडियो वायरल नहीं होता तो गोगी समेत चारों बदमाशों का एनकाउंटर तय था। गोगी के साथ उसके कुख्यात शार्पशूटर कुलदीप मान उर्फ फज्जा, रोहित उर्फ मोई और कपिल उर्फ गौरव भी हत्थे चढ़ गए। इन सभी पर मिलाकर 10 लाख 50 हजार का इनाम था।