ट्रक की केबिन खुली तो मिला एक करोड़ का गांजा, उड़ गए अधिकारियों के होश


वाराणसी। ओड़िसा से अलीगढ़ भेजी जा रही गांजे की बड़ी खेप को राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) ने बरामद किया है। डीआरआई की वाराणसी यूनिट ने एनएच-2 चेकिंग के दौरान एक ट्रक की केबिन से 6 क्विंटल गांजे की खेप के साथ 2 तस्करों को गिरफ्तार किया है। गांज की कीमत एक करोड़ के पार बताई गई है।
दरअसल नशे के सौदागरों ने पूर्वांचल को तस्करी का बड़ा अड्डा बना लिया है। ओड़िसा से लगातार तस्कर नशे की खेप को पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों में भेजा जा रहा है। नशे के सामानों की तस्करी के लिए तस्कर हर दिन नए-नए तरिके आजमा रहे हैं। लेकिन प्रशासनिक सतर्कता के कारण तस्करों के मंसूबे नाकाम हो रहे हैं।
इंटेलिजेंस ऑफिसर के मुताबिक वाराणसी के रास्ते तस्कर गांजे की इस खेप को ओड़िसा के कोरापुट से यूपी के अलीगढ़ ले जा रहे थे। किसी को शक न हो इसके लिए तस्करों ने गांजे को ट्रक की केबिन में छुपा रखा था। लेकिन मुखबिर की सूचना पर डीआरआई की टीम ने उन्हें अरेस्ट कर लिया। पकड़े गया तस्कर तिलक सिंह यूपी के हाथरस जिले का रहने वाला है जबकि दूसरा शख्स शैलेन्द्र हापुड़ जिले से है। डीआरआई के अफसरों के मुताबिक ये लगातार नशे के सामानों को यूपी, बिहार, झारखंड के अलग-अलग जिलों तक पहुंचाते थे।
पहले भी हुए है बरामद
पिछले कुछ महीनों में डीआरआई की वाराणसी यूनिट ने नैशनल हाइवे 2 पर छापेमारी कर करोड़ो का माल जब्त किया है। डीआरआई की टीम पिछके दो महीनों में दर्जनों तस्करों को गांजे के साथ पकड़ा है।