वाल्मीकि समाज को जिहादी अकेला ना समझें, बजरंग दल प्रण-पण से रक्षा करेगा: भारत बत्रा


नई दिल्ली। दक्षिणी-पूर्वी दिल्ली के सराय काले खां में शनिवार रात को स्थानीय वाल्मीकि समाज की बस्ती पर हुए मुस्लिम युवकों के आक्रमण से आक्रोशित बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने वहाँ के वाल्मीकि मंदिर में एक महा-चालीसा का आयोजन कर हिन्दू समाज में साहस व नव ऊर्जा का संचार कर आक्रान्ताओं को ललकारा। चालीसा के उपरांत उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए बजरंग दल के प्रांत संयोजक श्री भारत बत्रा ने कहा कि वाल्मीकि समाज को कोई अकेला न समझे। देश भर के बजरंगी उनके साथ खड़े हैं। इस्लामिक जिहादियों को अपनी हिन्दू विरोधी व देश विरोधी करतूतों से बाज आना होगा अन्यथा उसके गंभीर परिणाम होंगे। शनिवार को वाल्मीकि बस्ती पर हुआ हमला हिन्दू समाज के हृदय पर एक गंभीर चोट है जिसे आसानी से नहीं भरा जा सकता। हमले में संलिप्त सभी हमलावर जब तक जेल में नहीं होंगे हम चैन से नहीं बैठेंगे। विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रत्येक मंगलवार को यहाँ चालीसा कर राष्ट्र – धर्म के लिए समर्पित शक्ति का निर्माण करेंगे।    
विहिप के प्रांत सह-मंत्री श्री नंदकिशोर, सत्संग प्रमुख श्री मदन सिंह, विभाग सह-मंत्री राधा-कृष्ण, जिला धर्म-जागरण प्रमुख पूज्य संत श्री दुर्गेशदास, जिला अध्यक्ष संजय वशिष्टा, उपाध्यक्ष सत्य वीर बेसोया व राम निवास, मंत्री पंकज चतुर्वेदी व बजरंग दल सह-संयोजक हेमंत चौधरी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग कार्यवाह श्री रवि प्रकाश, अखिल भारतीय वाल्मीकि चेतना मंच के प्रधान रोहित ढिलोड, स्थानीय वाल्मीकि समाज के प्रधान श्री राजकुमार प्रधान, महर्षि वाल्मीकि मंदिर के प्रधान देवेन्द्र वाल्मीकि, जातव समाज से करतार सिंह, पीड़ित परिवार के मुखिया व नव-दम्पत्ति के पिता कृष्ण कुमार के अतिरिक्त स्थानीय आर डब्लू ए के मंत्री श्री योगेश वशिष्टा सहित दिल्ली के अनेक धार्मिक सामाजिक व सांस्कृतिक संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।