लोनी कोतवाली क्षेत्र की नसबंदी कालोनी में जीजा ने साले के पेट में चाकू घोंपकर हत्या की


लोनी,(गाजियाबाद)। कोतवाली क्षेत्र की नसबंदी कालोनी में शनिवार सुबह दो लाख रुपए को लेकर हुए विवाद में जीजा ने साले के पेट में चाकू मार दिया। स्वजन ने घायल को उपचार के लिए दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने आरोपित जीजा को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। दिल्ली की मुस्तफाबाद कालोनी में शमशाद (35) पत्नी नगीना और पांच बच्चों के साथ रहते थे। वह एक फैक्ट्री में सिलाई करते थे। पांच दिन पूर्व वह भतीजे ईशाद की शादी में शामिल होने के लिए परिवार समेत लोनी नसबंदी कालोनी स्थित पैतृक घर आए थे। उनके भाई शहजाद ने बताया कि बहन मोमिना का बीस वर्ष पूर्व एजाज निवासी सादुल्लाबाद से विवाह हुआ था। उन्होंने बताया कि पूर्व में एजाज दुबई में कार्य करता था। वहां से लौटने के बाद वह मजदूरी कर रहा था। करीब एक वर्ष पूर्व एजाज एक मामले में जेल में बंद हो गया था। करीब आठ माह पूर्व ससुराल पक्ष के लोगों ने उसकी जमानत कराई थी। वह नशे में पत्नी के साथ अक्सर मारपीट करता और मायके से दो लाख रुपए लाने का दबाव बनाता था। जिसपर बहन मोमिना करीब तीन माह से मायके में रह रही थी। शनिवार सुबह एजाज पत्नी को लेने ससुराल पहुंचा। इस दौरान पैसे मांगने पर जीजा और साले में विवाद हो गया। 
इसी बीच एजाज के सिर में चोट लग गई जिसपर उसने शमशाद के पेट में चाकू घोंप दिया और मौके से फरार हो गया। स्वजन घटना की सूचना पुलिस को देकर घायल शमशाद को उपचार के लिए दिल्ली के जीटीबी अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शमशाद की मौत की खबर सुनकर पत्नी नगीना और बहन शबीना बेहोश हो गई। पुलिस क्षेत्राधिकारी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि मृतक के स्वजन की शिकायत पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित को सादुल्लाबाद से गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि कुछ समय पूर्व उसने अपना मकान बेचकर दूसरा मकान लिया था। इस दौरान ससुराल पक्ष के लोगों ने उससे दो लाख रुपए लिए थे। सुबह वह पैसे मांगने गया था तभी साले से विवाद हो गया और मारपीट के दौरान घटना हो गई।