लाल किला हिंसा के दो और आरोपियों को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार


  • किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान गणतंत्र दिवस पर लाल किले में भारी हिंसा हुई थी
  • उत्पाती किसानों ने वहां तैनात पुलिस वालों पर हमला कर दिया था और तोड़फोड़ की थी
  • दिल्ली पुलिस अब उन्हें चुन-चुनकर अरेस्ट कर रही है, 9 मार्च को दो और आरोप अरेस्ट हुए
राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। दिल्ली पुलिस किसान आंदोलन की आड़ में 26 जनवरी को लाल किले पर की गई हिंसा के आरोपियों की धर-पकड़ कर रही है। इसी सिलसिले में पुलिस को दो और आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल हुई है। इनमें एक आरोपी मनिंदरजीत सिंह डेनमार्क का निवासी है जो अभी बर्मिंगम में रहता है। उसे दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया है। वो भारत से भागने की फिराक में था और इसके लिए उसने फर्जी दस्तावेज बना रखे थे। चूंकि दिल्ली पुलिस ने उसके खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था, इसलिए एयरपोर्ट के कर्मचारियों ने उसकी पहचान कर ली और उसे पुलिस को थमा दिया। मनजिंदर के खिलाफ पहले से दो आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं।
वहीं, दूसरा आरोपी खेमप्रीत सिंह ने लाल किले के अंदर तैनात पुलिस वालों पर फर्से से वार किया था। वो तब से पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए जहां तहां छिप रहा था। दरअसल, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की कई टीमें दिल्ली और पंजाब में लगातार छापेमारी कर रही हैं। इंस्पेक्टर पंकज अरोड़ा के नेतृत्व में एक टीम ने मंगलवार को मनिंदरजीत और खेमप्रीत को गिरफ्तार किया है।
ध्यान रहे कि तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकाली थी। इस दौरान किसानों के कई जत्थे लाल किला पहुंच गए और वहां जमकर उत्पात मचाया। उग्र किसानों ने वहां तैनात पुलिस वालों पर हमले किए और भारी तबाही मचाई। दिल्ली पुलिस उनकी पहचान करके गिरफ्तार करने में जुटी है।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर