गाजियाबाद के एमएमएच कॉलेज में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस


गाजियाबाद ब्यूरो। एमएमएच कॉलेज गाजियाबाद के वनस्पति विज्ञान विभाग की डॉ अंजलि दत्त और जीव विज्ञान विभाग की डा अलका व्यास ने राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित किया, जिसका शीर्षक था - Covid-19 & Women's Health  Management through Ayurveda, Yoga & Meditation. वेबिनार में तीन प्रमुख वक्ता रहे: 1. रश्मि अग्रवाल, पर्यावरणविद और लेखक, नजीबाबाद, यूपी. 2. डा राजेश बत्रा, संस्थापक और अध्यक्ष, योग संस्कृति उत्थान पीठ, नई दिल्ली. 3. डा अंजू सिंह, बीएएमएस। सभी वक्ताओं ने अपने विषयों पर विस्तार से जानकारी दी और सुखी जीवन के लिए संतुष्ट और प्रसन्न मन के गुर सिखाए। भारत में आयुर्वेदिक उपचार का महत्त्व और योग क्रियाओं से भी सभी को अवगत कराया। वेबीनार में कालेज के प्राचार्य डा मुकेश कुमार जैन, डा स्नेह लता, डा स्नेह लता गोयल, डा रोज़ी मिश्रा, डा ईशा शर्मा, डा सुनीता सिंह, डा रेनू त्यागी, डा आभा दुबे के साथ अन्य प्राध्यापक उपस्थित रहे। रा.से.यो. के करीब 50 स्वयंसेवक भी इससे जुड़े रहे। वेबिनार में डा गार्गी, डा रीमा उपाध्याय और आरती सिंह का सहयोग रहा।
इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद के तत्वाधान में महाविद्यालय की संस्था 'स्पन्दन नाट्यशाला' द्वारा नुक्कड़ नाटक किया गया जिसका शीर्षक था 'जननी'। नाटक में कलाकारों ने बताया कि समाज मे सन्तुलन की स्थिति हो, पुरुष नारी को आगे बढ़ने में मदद करे और नारी भी पुरूष को सहयोग करे। नाटक में अन्य छात्रों के साथ रा.से.यो. के स्वयंसेवको ने भी अभिनय किया - तनु, दीपांशु, अमित, मनीषा, नीरज भारती, अंजलि, गरिमा, आकाश। नाटक का निर्देशन टेकचन्द ने किया। इस बीच महाविद्यालय के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डा यूसी शर्मा, साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद की संयोजिका डा ईशा शर्मा और कॉलेज के अन्य प्राध्यापक मौजूद रहे। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी डा गौतम बैनर्जी और अनुपमा गौड़ भी उपस्थित रहे, जिन्होंने नाटक के बाद करीब 40 स्वयंसेवकों के साथ मिशन शक्ति के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण पर जागरूकता रैली निकाली।