रिश्वत लेता धरा गया राष्ट्रीय चंबल घड़ियाल सेंचुरी का अफसर


  • जयपुर एसीबी की टीम ने सवाईमाधोपुर ने की बड़ी कार्रवाई
  • डीसीएफ फुरकान अली 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते दबोचा
  • सेंचुरी में हुए विभिन्न विकास कार्यों के बिल पास करने की एवज में मांगी गई थी रिश्वत
सवाई माधोपुर। राजस्थान प्रदेश के सवाईमाधोपुर जिले में गुरुवार को जयपुर एसीबी की टीम ने बड़ी कारवाई की है। राष्ट्रीय चंबल घड़ियाल सेंचुरी के वन संरक्षक फुरकान अली को 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते दबोचा है। फुरकान अली ने चंबल घड़ियाल अभयारण्य में विभिन्न विकास कार्यों के बिल पास करने की एवज में घूस मांगी थी। वन संरक्षक फुरकान अली ने 1 लाख रुपए पूर्व में सत्यापन के दौरान ले चुका था। उसके बाद आज एसीबी ने 3 लाख रुपए की रिश्वत राशि लेते हुए ट्रैप किया है।
परिवादी से मिली थी शिकायत
एसीबी के अनुसार मुख्यालय की एसआईडब्ल्यू ईकाई को परिवादी ने शिकायत दी थी। परिवादी के अनुसार यहां विभिन्न विकास कार्यों के बकाया भुगतान में कमीशन की एवज में फुरकान अली खत्री उपवन संरक्षक राष्ट्रीय चम्बल वन्य जीव अभयारण्य, सवाईमाधोपुर द्वारा 3 लाख रुपये रिश्वत राशि मांगकर परेशान किया जा रहा है। इस बात का सत्यापन किया गया, इसके बाद उस पर शिकंजा कसा गया।
एसीबी कार्रवाई आलनपुर नर्सरी स्थित वन संरक्षक के आवास पर हुई
इस पर आज एसीबी की टीम ने सवाईमाधोपुर में ट्रैप कार्यवाही करते हुये फुरकान अली खत्री को परिवादी से 3 लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। एसीबी कार्रवाई आलनपुर नर्सरी स्थित वन संरक्षक के आवास पर हुई। एएसपी संजीव नैन, डिप्टी चित्रगुप्त महावर ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। एसीबी की इस कार्रवाई से वन महकमे में हड़कंप मच गया। यह कार्रवाई डीजी बीएल सोनी, एडीजी दिनेश एमएन के निर्देश पर हुई है।
मामले को लेकर वन मंत्री पर सांगोद विधायक भरत सिंह ने कसा तंज
इधर चंबल घड़ियाल सेंचुरी के उप वन संरक्षक के द्वारा रिश्वत लेने के मामले को लेकर कोटा जिले के सांगोद विधानसभा विधायक भरत सिंह ने वन मंत्री सुखराम विश्नोई को पत्र लिखकर तंज कसा है। विधायक भरत सिंह ने पत्र लिखते हुए वन मंत्री से कहा कि 2019 -2020 को उन्होंने वन मंत्री को पत्र लिखा था जिसका अवलोकन उन्हें करना चाहिए।
विधायक भरत सिंह ने कहा कि मेरे पत्र पर ध्यान देते तो अच्छा होता । मुझे प्रसन्नता है कि एसीबी द्वारा उप वन संरक्षक फुकरा नदी को 3 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए ट्रेप किया गया है। पहले भी बारां में मंडल वन अधिकारी को लेकर शिकायत की गई थी। मगर वन मंत्री ने वहां पर ध्यान नहीं दिया। एसीबी ने वहां भी अधिकारी को ट्रेप कर पकड़ा था। वन मंत्री से विधायक भरत सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टोलरेंस के सरकार के संकल्प पर वह अमल करें।