'मस्जिद की अजान से डिस्टर्ब होती है नींद', इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की वीसी ने डीएम को लिखा पत्र


  • इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की वीसी प्रफेसर संगीता श्रीवास्तव के पत्र से घमासान
  • डीएम को पत्र लिखकर उन्होंने लाउडस्पीकर से होने वाली अजान को रोकने को कहा
  • वीसी ने कहा कि सुबह साढ़े पांच बजे लाउडस्पीकर की आवाज से खुल जाती है उनकी नींद
प्रयागराज। मशहूर गायक सोनू निगम के लाउडस्पीकर पर अजान न बजाने की अपील के बाद इस मुद्दे पर विवाद उठा था। अब उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की कुलपति ने इसी तरह की अपील की है। यूनिवर्सिटी की वीसी प्रफेसर संगीता श्रीवास्तव ने प्रयागराज के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि अलसुबह मस्जिद के लाउडस्पीकर से आने वाली अजान की आवाज से उनकी नींद में खलल पड़ता है और उनकी दिनचर्या प्रभावित होती है। वीसी प्रफेसर संगीता श्रीवास्तव ने डीएम को पत्र लिखा है, 'पुरानी कहावत है, आपकी स्वतंत्रता वहीं खत्म होती है जहां मेरी नाक शुरू होती है। यह कहावत मेरे मामले में सटीक बैठती है। मैं किसी धर्म, जाति या वर्ग के खिलाफ नहीं हूं। वे अजान बिना लाउडस्पीकर के भी कर सकते हैं ताकि दूसरे लोग परेशान न हों।दूसरों की दिनचर्या प्रभावित न हो।'
'हर समुदाय रहना चाहता है शांति से'
प्रफेसर ने पत्र में आगे लिखा, 'यहां तक कि ईद से पहले वह सहरी ऐलान करने लगेंगे। वह सुबह चार बजे होती है। इस तरह की चीजें लोगों को डिस्टर्ब करती हैं। भारत का संविधान हर समुदाय के लिए सांप्रदायिक और शांतिपूर्ण रहने का प्रावधान करता है।'
'कार्रवाई की होगी प्रशंसा'
वीसी ने डीएम को इलाहाबाद में दायर की गई पीआईएल नंबर-570 ऑफिस 2020 के आदेश का भी हवाला दिया। उन्होंने कहा कि डीएम की त्वरित कार्रवाई की बड़े स्तर पर सराहना होगी। इस तेज आवाज से प्रभावित लोगों को शांति मिलेगी।