वसीम रिजवी के खिलाफ बरेली में धार्मिक भावनाएं भड़काने का मुकदमा दर्ज


  • मुकदमा बरेली की संस्था अंजुमन खुद्दामे रसूल की ओर से दर्ज कराया गया
  • दो दिन पहले वसीम रिजवी का सिर काटककर लाने वाले को 11 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान किया गया था
  • वसीम रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समाज में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा
बरेली। कुरान से 26 आयतों को हटवाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल करने पर शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के खिलाफ मुस्लिम समाज में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार को बरेली कोतवाली में वसीम रिजवी के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मुकदमा दर्ज कराया गया। यह मुकदमा बरेली की संस्था अंजुमन खुद्दामे रसूल की ओर से दर्ज कराया गया है। संस्था के सेक्रेटरी शान अहमद की तहरीर पर कोतवाली थाना पुलिस ने वसीम रिजवी के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मुकदमा दर्ज कर लिया।
तहरीर में कहा- इस्लाम और संविधान विरोधी कृत्य किया
तहरीर में कहा गया है कि वसीम रिजवी द्वारा कुरान से 26 आयतों को हटवाने की मांग करना न सिर्फ इस्लाम धर्म, बल्कि संविधान के भी विरुद्ध है, क्योंकि भारत का संविधान हर धर्म को पूर्ण स्वतंत्रता प्रदान करता है। ऐसे में वसीम रिजवी की मांग से मुस्लिमों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है। बरेली कोतवाली पुलिस ने भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 295 ए की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
आईएमसी ने निकाला जुलूस
वहीं, बरेली में सोमवार को इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) की ओर से वसीम रिजवी के खिलाफ जुलूस निकाला गया। जुलूस में शामिल आईएमसी के पदाधिकारियों ने एसएसपी को ज्ञापन देकर वसीम रिजवी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की। ज्ञापन आईएमसी के राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रवक्ता डॉ. नफीस खां और जिलाध्यक्ष मोहममद नदीम खां की अगुवाई में दिया गया।
मुरादाबाद में किया गया था इनाम का ऐलान
वसीम रिजवी के खिलाफ गुस्सा इतना भड़का हुआ है कि मुरादाबाद में दो दिन पहले एक कार्यक्रम में वसीम रिजवी का सिर काटककर लाने वाले को 11 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान किया गया था। हालांकि, बाद में इनाम घोषित करने वाले पर भी मुकदमा दर्ज किया गया।