भारतीय मजदूर संघ दिल्ली प्रदेश कमेटी की घोषणा संपन, युवा पदाधिकारियों को मिला मौका


नई दिल्ली। भारतीय मजदूर संघ  दिल्ली प्रदेश इकाई के 21वां त्रैवार्षिक दो दिवसीय अधिवेशन द्वारका, सेक्टर 13 के एमआरवी स्कूल में रविवार को समापन हुआ। दो दिवसीय अधिवेशन के अंतिम दिन बीएमएस दिल्ली प्रदेश कमेटी की घोषणा की गई। इसी के साथ भारतीय मजदूर संघ दिल्ली प्रदेश इकाई के नई कमेटी का गठन किया गया। संगठन मंत्री अनुपम जी ने नवयुक्त पदाधिकारियों की घोषणा की। भारतीय मजदूर संघ दिल्ली प्रदेश के पूर्व महामंत्री अनीश मीश्रा को दिल्ली प्रांत का अध्यक्ष चुना गया। पूर्व अध्यक्ष प्रेम सिंह नागर को दिल्ली प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौपी गई, महामंत्री के पद पर पूर्व मंत्री डाॅ दिपेंद्र चाहर और कोषाध्यक्ष उमेश सिंह नेगी को बनाया गया। संगठन ने महिलाओं का तबज्जो देजे हुए श्रीमति पुष्पा को प्रदेश उपाध्यक्ष और इन्दुमती को प्रदेश मंत्री बनाया गया है। 60वर्ष से अधिक वरिष्ठ कार्यर्ताओं को कार्यसमिति में स्थान दिया गया जिसमे बीएस भाटी, योगेन्द्र राय, राम नरेश वर्मा शामिल हुए।
इस अवसर पर राष्ट्रीय महामंत्री विनय सिन्हा ने दिल्ली कमेटी के नवयुक्त पदाधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि बीएमएस एक परिवारीक संगठन है ये इस संगठन का मूलमंत्र है। श्री सिन्हा ने कहा कि हमारे पिछे दो करोड़ की शक्ति खड़ी है, हम असफल नही हो सकते। कहा, हमारे पूर्वज ने जो रास्ता दिखाया है उससे विचलित नही होने देेंगे। राष्ट्रीय नेतृत्व ने इस बार दिल्ली इकाई में पिछले कार्यकाल में रहे पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी है। इस बार अध्यक्ष के कार्यभार को संभालने वाले अनीश मीश्रा पिछले कार्यकाल में महामंत्री थे, श्री मीश्रा ने अपने कार्यकाल में मेहनत और लगन से बीएमएस दिल्ली प्रांत को आगे बढ़ाने का कार्य किया है और इसी का फलस्वरूप आज संगठन ने अध्यक्ष के रूप में श्री मीश्रा को दिल्ली प्रदेश की जिम्मेदारी सौपी है। वही प्रेम सिंह नागर प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए दिल्ली की टिम को बखूबी एक सूत्र में बांधे रहे, संगठन ने आज दुबारा मौका देते हुए उन्हें कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौपी।
कहते है कि किसी संगठन की रीड संगठन का महामंत्री होता है, जिन्के उपर जिम्मेदारियों का बोझ भारी भरकम होता है और इसके लिए जोश के साथ होश भी जरूरी है। राष्ट्रीय नेतृत्व ने इस बार बीएमएस में सबसे कम उर्म के महामंत्री का रिकाॅड तोड़ते हुए संगठन ने 39 वर्षीय डाॅ दिपेंद्र चाहर को महामंत्री के रूप में मौका दिया है। बता दें कि डाॅ दिपेंद्र चाहर पिछले कार्यकाल में प्रदेश मंत्री के रूप में बखूबी अपने कर्तव्यों का निर्वाह किए हैं, आज संगठन ने उन्हें महामंत्री के रूप में बीएमएस की सेवा करने और संगठन को और मजबूत बनाने का दायत्व किया गया है।
दिल्ली इकाई में इस बार विशेष ये रहा कि, तकरिबन युवा पदाधिकारियों को ही जिम्मेदारी दी गई है। अन्य पदाधिकारियों में मनीष सांखला, मूलचंद, बिरेन्द्र शर्मा, जंग बहादूर, रमेश, पंकज शर्मा, मनोज त्यागी, हरमिंदर कौर आदी को अन्य जिम्मेदारी दी गई है।