फर्जी पुलिस की वर्दी पहन कर अवैध वसूली, लूटपाट तथा नौकरी लगवाने के नाम पर लोगो के साथ ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश


सूर्य प्रकाश,(गाजियाबाद)। सिपाही बनकर प्रांतीय रक्षक दल (पीआरडी) के जवान के साथ मोहन नगर चौराहा पर आटो चालकों से अवैध वसूली करने वाले बदमाशों को पुलिस ने सोमवार देर रात गिरफ्तार कर लिया है। दोनों पुलिस का रौब झाड़कर लोगों से लूटपाट, वसूली और धोखाधड़ी करते थे। पुलिस अधीक्षक नगर द्वितीय ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि सोमवार रात करीब 11:30 बजे मोहन नगर चौराहे से दिनेश कुमार निवासी नया गांव थाना सिविल लाइन जिला मुरादाबाद और गौतमबुद्ध नगर के सेक्टर-58 थाना में तैनात पीआरडी जवान संदीप निवासी धर्मपुरी इगरी रोड थाना सरधना जिला मेरठ को गिरफ्तार किया गया। दिनेश सिपाही की वर्दी पहनकर पीआरडी जवान संदीप के साथ मिलकर आटो चालकों से अवैध वसूली कर रहा था। दोनों के पास से वसूली के सात सौ रुपये बरामद हुए। दोनों ने पकड़े जाने से पहले उक्त रुपये वसूले थे।
पुलिस क्षेत्राधिकारी साहिबाबाद आलोक दुबे ने बताया कि दोनों आरोपितों से पूछताछ की गई है। पता चला है कि दोनों ने पुलिसकर्मी बनकर तीन मार्च को शालीमार गार्डन में अनीता गुप्ता को धमकाया था। उनसे लाखों के गहने ठग लिए थे। आरोपितों ने उन गहनों को दिल्ली में बेचा था। उनके पास से गहने बेचने से मिले सात हजार रुपये भी बरामद हुए हैं। उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मी बनकर दिनेश ने चार माह पहले कनावनी निवासी विनोद कुमार शर्मा की पुलिस में नौकरी लगवाने के नाम पर दो लाख रुपये ठगे थे।
पुलिस का बैज बरामद: साहिबाबाद थाना प्रभारी निरीक्षक विष्णु कौशिक ने बताया कि आरोपितों के पास से उत्तर प्रदेश पुलिस का फर्जी पहचान पत्र, एक बेल्ट, दो वर्दी, एक जोड़ा उत्तर प्रदेश पुलिस व एक जोड़ा प्रांतीय रक्षक दल का बैज, वर्दी पहने फोटो, एक तमंचा, एक कारतूस, एक चाकू और एक मोटरसाइकिल बरामद हुई है।
मोहन नगर पुलिस चौकी प्रभारी डॉ. रामसेवक ने बताया कि आरोपित आटो चालकों पर बहुत रौब झाड़ते थे। चालक इससे डर जाते थे। डर कर उन्हें रुपये दे देते थे। आटो चालकों के अलावा महिलाएं उनके निशाने पर रहती थीं। उन्हें डरा-धमकाकर गहने व रुपये ठगते रहते थे।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर