महिला श्रमिकों को जागरूक करते हुए महिला सशक्तिकरण से संबंधित सरकारी योजनाओं की दी जा रही है जानकारी


राजीव अवस्थी,(गाजियाबाद)। जनपद गाजियाबाद में श्रम विभाग द्वारा दिनांक 26.02.2021 से 08.03.2021 तक मिशन शक्ति के अन्तर्गत महिला / नारी सशक्तिकरण कराये जाने के लिए  विशेष अभियान संचालित किया जा रहा है जिसके तहत इस अवधि में महिला निर्माण श्रमिकों के पंजीयन के लिए कैम्पों का आयोजन किया जा रहा है एवं निर्माण श्रमिकों के हितार्थ उ0प्र0 भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा एवं कारखानों में नियोजित श्रमिकों के हितार्थ श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी प्रदान की जा रही है। साथ ही महिलाओं से सम्बन्धित अधिनियम समान पारिश्रमिक अधिनियम, 1976, महिलाओं का कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीडन अधिनियम, 2013, मातृका हितलाभ अधिनियम , 1961, न्यूनतम वेतन अधिनियम, 1948 एवं वेतन संदाय अधिनियम, 1936 के सम्बन्ध में भी जानकारी प्रदान करते हुए जागरूक किया जा रहा है।
इसी क्रम में आज दिनांक 03.03.2021 को मान्यवर कांशीराम राजकीय महाविद्यालय , सद्दीकनगर नन्दग्राम, गाजियाबाद एवं बालाजी बिल्डर नियर राजनगर एक्सटेंशन , कासिंग गाजियाबाद एवं पारसन न्यूट्रसन प्रा ० लि 0 , साहिबाबाद में एक - एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया ।  कार्य में श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित योजनाओ गनेश शंकर विद्यार्थी पुरूस्कार राशि योजना , ज्योतिबा फूले कन्यादान योजना , दत्तोपंत ठेंगडी मृतक अंत्येष्टि सहायता योजना , राजा हरिश्चन्द्र मृतक आश्रित सहायता योजना एवं डॉ ए 0 पी 0 जे 0 अब्दुल कलाम प्राविधिक शिक्षा सहायता योजना एवं महिलाओं से सम्बन्धित अधिनियम समान पारिश्रमिक अधिनियम , 1976 , महिलाओं का कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीडन अधिनियम , 2013 एवं मातृका हितलाभ अधिनियम , 1961 , न्यूनतम वेतन अधिनियम , 1948 एवं वेतन भुगतान अधिनियम , 1936 के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में  राजेश मिश्रा , उप श्रमायुक्त , गाजियाबाद क्षेत्र , सिद्धार्थ मोदियानी, सहायक श्रमायुक्त , गाजियाबाद , वी 0 के 0 मिश्रा , श्रम प्रवर्तन अधिकारी , गाजियाबाद , विद्यालय के प्रधानाचार्य , अध्यापक एवं अध्ययन छात्र - छात्राएं एवं काफी संख्या में प्रतिष्ठान में कार्यरत महिला कर्मकार उपस्थित रहें ।   यह जानकारी सहायक श्रमायुक्त , गाजियाबाद सिद्धार्थ मोदियानी के द्वारा दी गई है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के तहत आगे भी जिलाधिकारी के नेतृत्व में इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करते हुए महिला श्रमिकों को जागरूक करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।