रेप के आरोप में युवक ने 2 साल काटी जेल, डीएनए जांच में झूठा साबित हुआ आरोप


अलीगढ़। अलीगढ़ जिले के बरला इलाके के गांव की रहने वाली दुष्कर्म की पीड़ित युवती के पीड़ित पिता ने अपनी 13 वर्षिय बेटी के साथ हुए दुष्कर्म के बाद 23 फरवरी 2019 को गांव के ही रहने वाले 28 वर्षीय पड़ोसी युवक के खिलाफ दुष्कर्म और मारपीट करने के साथ थाना बरला में धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसमें पीड़िता के पिता ने युवक पर आरोप लगाया था कि युवक ने उसकी 13 वर्षिय बेटी के साथ दुष्कर्म किया है। दुष्कर्म करने बाद युवक ने उसकी बेटी को धमकाया गया। जिसके चलते उसकी बेटी ने किसी को कुछ नही बताया। सात महीने की गर्भवती होने के बाद उसने घरवालों को जानकारी दी गई थी।
जिसके बाद 23 फरवरी को युवक के खिलाफ दुष्कर्म करने का मुकदमा थाने में दर्ज हुआ और 26 फरवरी को पुलिस ने गिरफ्तार करने के बाद युवक को जेल भेज दिया। दो महीने के बाद अप्रैल 2019 में दुष्कर्म की शिकार पीड़ित किशोरी ने एक बच्ची को जन्म दिया। जहां बच्ची के जन्म लेने के बाद आरोपी युवक के पिता ने अधिकारियों और कुछ राजनीतिज्ञों से अपने बेटे को निर्दोष बताकर उसको बचाने के लिए मदद की गुहार लगाई और अपने बेटे की जमानत कराने के लिए याचिका न्यायालय में डाली, लेकिन जमानत याचिका के दौरान बच्ची के जन्म की दलील न्यायालय के सामने आने पर उसकी डाली गई जमानत याचिका न्यायालय में खारिज हो गई थी। बाद में पीड़ित किशोरी के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में पुलिस की जांच रिपोर्ट को डीएनए की टेस्ट रिपोर्ट में झूठा साबित कर दिया है।