नोएडा में 200 से अधिक वाहन चुराने वाले लल्ला गैंग का पर्दाफाश, पांचवीं फेल है सरगना


नोएडा। नोएडा और एनसीआर से 200 से अधिक दोपहिया वाहन चुराने वाले लल्ला गैंग का सेक्टर-58 कोतवाली पुलिस ने खुलासा किया है। पुलिस की टीम ने गिरोह के सरगना लल्ला समेत चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से चोरी के 30 दोपहिया वाहन व लॉक खोलने के उपकरण बरामद किए हैं। चारों आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।
नोएडा जोन के डीसीपी राजेश एस ने बताया कि सेक्टर-58 कोतवाली पुलिस की टीम ने रविवार देर रात सेक्टर-57-58 के पास से अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह के 4 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान त्रिलोकपुरी दिल्ली निवासी जयचंद उर्फ  लल्ला, पांडव नगर निवासी राहुल, अतुल गुप्ता और मयूर विहार फेज वन दिल्ली निवासी अमन के रूप में हुई है। गिरोह का सरगना जयचंद उर्फ लल्ला है। 
पुलिस ने इनकी निशानदेही पर 23 बाइक और 7 स्कूटी बरामद की हैं, जो नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद समेत एनसीआर क्षेत्र के अन्य शहरों से चोरी की गई थीं। बदमाश शहर में सार्वजनिक स्थानों से लॉक खोलने के औजारों की मदद से वाहन चोरी करते थे। इसके बाद सुनसान स्थान या सार्वजनिक पार्किंग में खड़ी कर देते थे। पूछताछ में बदमाशों ने बताया कि अब तक 200 से अधिक दोपहिया वाहनों की चोरी की है। चोरी की गाड़ियों को गांजा तस्करों और कबाड़ी को बेच देते थे। पुलिस मेरठ के एक कबाड़ी के बारे में पता लगा रही है।
5वीं फेल है अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का सरगना
एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि गिरोह का सरगना जयचंद उर्फ  लल्ला है। जयचंद पहले दिल्ली में ई-रिक्शा मरम्मत करने की दुकान चलाता था। इसी दौरान राहुल और अमन संपर्क में आए। इसके बाद इन लोगों ने वाहन चोरी की घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया। जयचंद और अमन पेचकस नुमा औजार से बाइक व स्कूटी का लॉक खोलने में माहिर हैं। पुलिस जांच में पता चला है कि सरगना जयचंद उर्फ लल्ला पर नोएडा व एनसीआर के विभिन्न थानों में 30, राहुल पर 24, अतुल गुप्ता पर 18 और अमन पर 14 मामले दर्ज हैं।
अतुल चोरी की बाइक से करता था गांजे की तस्करी
एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि गिरोह में शामिल अतुल गुप्ता पांडव नगर का रहने वाला है। अतुल उस क्षेत्र का बड़ा गांजा तस्कर है। वह हर दिन 3000 से 4000 रुपये का गांजा बेचता था। अतुल 10 से 15 हजार में जयचंद उर्फ लल्ला से चोरी की बाइक खरीदता था। गांजा तस्करी करने के दौरान पुलिस उसका पीछा करती थी तो वह चोरी की बाइक को छोड़कर भाग जाता था। बताया जाता है कि गिरोह ने अतुल के अलावा अन्य गांजा तस्करों को भी चोरी की बाइक बेची हैं। इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।
पुलिस पूछताछ में पता चला कि राहुल दिल्ली में ही वेल्डिंग का काम करता था। कुछ साल पहले एक वेल्डिंग के काम के दौरान जयचंद और राहुल की मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों ने मिलकर वाहन चोर गिरोह बना लिया। बाद में गिरोह में अमन भी शामिल हो गया। इसके बाद इनके संपर्क में गांजा तस्कर अतुल और मेरठ का एक कबाड़ी आया।