गाजियाबाद में रेमडेसिविर की कालाबाजारी, 20 गुना ज्यादा दाम में मिल रहा है इंजेक्शन


  • उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ रहे हैं
  • गाजियाबाद में भी बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले
  • रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड बढ़ी, मार्केट में हुई किल्लत
  • गाजियाबाद में बीस गुना ज्यादा दामों पर खरीद रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन
गाजियाबाद ब्यूरो। कोरोना के इलाज में कारगर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी चरम पर है। गाजियाबाद के अस्पताल में इंजेक्शन नहीं हैं। लेकिन, ब्लैक में लोगों को 20 गुना ज्यादा दाम में मिल रहे हैं। आईएमए के अध्यक्ष आशीष अग्रवाल ने बताया कि एक मरीज को कोरोना के इलाज में 6 इंजेक्शन का कोर्स करवाना होता है, लेकिन इंजेक्शन मिल नहीं रहा है। दूसरी तरफ अस्पतालों द्वारा कमी के बारे में बताने पर प्रशासन छापेमारी तो कर रहा है, लेकिन स्थिति में सुधार नहीं आ रहा है। जानकारी के अनुसार अस्पताल में भर्ती करीब 80 फीसदी मरीजों को रेमडेसिविर की जरूरत होती है।
कई गुना ज्यादा रेट में मिल रहा
जो इंजेक्शन अस्पतालों में नहीं है, वह कई गुना ज्यादा रेट में मरीजों के तिमारदार लेकर आ रहे हैं। करीब 900 रुपये तक का इंजेक्शन 20 गुना ज्यादा कीमत पर मिल रहा। इस परेशानी में शिकायत के बाद भी सुधार नहीं हो रहा है। इंजेक्शन की डिमांड बढ़ने के बाद लोगों ने उसे स्टॉक करना शुरू कर दिया। यहां तक कुछ अस्पताल में डोज मिलने के बाद मरीजों को बाहर से इंजेक्शन लेकर आने की बात कर रहे हैं, जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। आईएमए के डॉक्टरों के अनुसार प्राइवेट अस्पताल लगातार इस संबंध में जानकारी दे रहे हैं, लेकिन आपूर्ति के कुछ दिन में ठीक होने की बात की जा रहे। इस देरी के साथ हालात खराब होते जा रहे हैं।
गाजियाबाद में कोरोना के केस
रविवार को गाजियाबाद में 253 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं रविवार को 104 लोग इस बीमारी से जंग जीत कर घर लौटे। इसके बाद जिले में अब एक्टिव केस की संख्या 2595 रह गई है। स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को कोरोना से 2 लोगों की मौत की जानकारी दी है, जबकि अस्पतालों से मिली जानकारी के अनुसार एक दिन में आठ लोगों की कोरोना से जान गई।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर