शास्त्री पार्क के फर्नीचर मार्केट में लगी भीषण आग, 225 दुकानें जलकर खाक, मजदूरों ने किसी तरह बचाई जान 


  • दमकल की 27 गाड़ियां मौके पर
  • तीन घंटे की मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू
  • दोपहिया वाहन और माल से लदा ट्रक चपेट में
दिल्ली ब्यूरो। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के शास्त्री पार्क स्थित फर्नीचर मार्केट में शनिवार देर रात भीषण आग लग गई। सूचना मिलते ही पुलिस के अलावा दमकल की 27 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। आग ने देखते ही देखते विकराल रूप धारण कर लिया। 125 से अधिक दमकल कर्मियों ने किसी तरह तीन घंटे से अधिक की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग में करीब 225 दुकानें जलकर खाक हो गईं। मार्केट में ही खड़े कुछ दोपहिया वाहन व माल से लदा एक ट्रक भी आग की चपेट में आ गए। हादसे में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। मौके पर कूलिंग का काम रविवार को भी जारी था। आग कैसे लगी फिलहाल इसका पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामला दर्ज कर आग के सही कारणों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। शुरूआती जांच के बाद आशंका व्यक्त की जा रही है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी। आग से करोड़ों रुपये का माल जलकर खाक हो गया।
पुलिस के मुताबिक शनिवार देर रात करीब 12.45 बजे सूचना मिली कि शास्त्री पार्क फर्नीचर मार्केट में आग लग गई है। शुरूआत में 10 गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। लेकिन देखते ही देखते आग मार्केट में फैलने लगी। आसपास के दमकल केंद्रों से भी गाड़ियां बुलानी पड़ी। आग लगने के समय कई दुकानों के सामने वहां काम करने वाले मजदूर सो रहे थे। किसी तरह इन लोगों ने वहां से भागकर अपनी जान बचाई। मार्केट में काम करने वाले उमेश व सलमान ने बताया कि वह दुकान के बाहर सो रहे थे। 
इस बीच अचानक उन्होंने शोर सुना तो उनकी आंख खुल गई। पूरी मार्केट धुंआ ही धुंआ था। चारों ओर आग की लपटे फैली हुई थी। मार्केट में रात को कुछ दुकानदार अपनी-अपनी दुकानों के आगे अपनी बाइक व स्कूटी खड़ी करके चले गए थे। हादसे में वह भी जलकर खाक हो गए। देर रात करीब 3.00 बजे किसी तरह आग पर काबू पाया गया। पुलिस आग के सही कारणों का पता लगा रही है।
एक दुकानदार सलीम ने बताया कि करीब 15 साल पहले जामा मस्जिद इलाके के मीना बाजार इलाके से टूल मार्केट को यहां शास्त्री पार्क में शिफ्ट किया गया था। प्रशासन की ओर से सभी दुकानदारों को छोटे-छोटे खोखे अलोट किए गए थे। यहां करीब 800 दुकानें थीं। समय के साथ-साथ लोगों ने टूल की दुकानें खत्म करके यहां फर्नीचर मार्केट बना दिया। 
फिलहाल शास्त्री पार्क का फर्नीचर मार्केट कीर्ति नगर और पंचकुइया रोड के बाद से तीसरे नंबर का था। सलीम ने बताया कि शनिवार लगी आग से कई लोगों का सारा सामान जलबर खाक हो गया। अब इन दुकानदारों को अपने परिवार की चिंता सता रही है। स्थानीय दुकानदारों ने सरकार से मदद की गुहार भी लगाई है।