दुल्हन को पसंद नहीं आया लहंगा, बंधक बनी बारात, 24 घंटे बाद चौकी पर हुआ फैसला


मेरठ। यूपी के मेरठ जिले के सरधना थाना क्षेत्र से एक दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां लहंगा पसंद ना आने पर दुल्हन ने शादी से इंकार कर दिया। इसके बाद गुस्साए लड़की वालों ने पूरी बारात को बंधक बना लिया। 24 घंटे तक चली कवायद के बाद रविवार की दोपहर पुलिस चौकी में दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया। इसके बाद दूल्हे पक्ष ने शादी की दावत में खर्च हुई दुल्हन पक्ष की रकम चुकाई और बारात बैरंग वापस चली गई।
दरअसल, क्षेत्र के नवादा गांव के रहने वाले एक शख्स की बेटी की शादी शामली के झिंझाना गांव के रहने वाले शाहिद के साथ तय हुई थी। शनिवार की दोपहर शाहिद बारात लेकर नवादा गांव में पहुंचा था। दावत के बाद निकाह की तैयारी चल रही थी। बताया जाता है निकाह की तैयारियों के बीच दूल्हे पक्ष की तरफ से दुल्हन को उपहार में दिया गया लहंगा खोल कर देखा गया।
फटा लहंगा देख भड़की दुल्हन
इसी बीच पुराना और फटा हुआ लहंगा देखकर दुल्हन भड़क उठी और शादी से इनकार कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही दावत उड़ा रहे बारातियों में अफरा-तफरी मच गई। इसी दौरान दुल्हन पक्ष के लोगों ने दूल्हे के घर वालों को खरी-खोटी सुनाते हुए पूरी बारात को गांव में बंधक बना लिया।
घंटों चली समझौते की कवायद
मामले की जानकारी मिलने के बाद दूल्हे के गांव से कुछ बड़े-बुजुर्ग दुल्हन के गांव में पहुंचे। जहां उन्होंने दूल्हे पक्ष की गलती मानते हुए इस मामले को निपटाने की कोशिश शुरू कर दी। इसके कुछ देर बाद बंधक बनाए गए अन्य बारातियों को तो वापस भेज दिया गया। मगर दुल्हन पक्ष ने दावत में खर्च हुई अपनी रकम वापस ना मिलने तक दूल्हे को छोड़ने से इंकार कर दिया।
क्षेत्र में रही चर्चा
रविवार की दोपहर मुल्हैड़ा पुलिस चौकी पर दोनों पक्षों के लोगों के बीच समझौता हो गया। चौकी इंचार्ज अमित कुमार ने बताया कि दूल्हे पक्ष ने दुल्हन के घर वालों को शादी की दावत में खर्च हुई उनकी रकम चुका दी है। इसके बाद दूल्हा भी अपने गांव वापस लौट गया है। उधर, यह पूरा मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है।