दिल्ली में कोरोना के 26000+ नए केस, आर्मी ने अपने बेस हॉस्पिटल को 1000 बेड वाले कोरोना अस्पताल में बदला, आईटीबीपी ने भी संभाला मोर्चा


दिल्ली ब्यूरो। देश की राजधानी दिल्ली कोरोना महामारी के कहर से कराह रही है। अस्पतालों में बेड और ऑक्सिजन की कमी हो गई है। शुक्रवार को दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 26169 नए मामले सामने आए। इस दौरान 306 मरीजों की मौत हो गई। राजधानी का पूरा हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर पंगु हो चुका है। ऐसे में आर्मी और आईटीबीपी ने भी मोर्चा संभाल लिया है। दिल्ली में आर्मी अपने बेस हॉस्पिटल को 1000 बेड वाले कोरोना अस्पताल में कन्वर्ट कर रही है तो आईटीबीपी भी छतरपुर में 500 ऑक्सिजन बेड वाले कोविड केयर सेंटर को खोलने की तैयारी में है।
छतरपुर में बन रहा 500 ऑक्सिजन बेड वाला कोविड केयर सेंटर, आईटीबीपी ने संभाला मोर्चा
दिल्ली में ऑक्सिजन की उपलब्धता वाला 500 बिस्तरों का कोविड देखभाल केंद्र शुरू किया जाएगा और उसका संचालन भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के चिकित्सक और अर्ध चिकित्सा कर्मी करेंगे। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया , ‘दिल्ली सरकार ने छतरपुर में सरदार पटेल कोविड देखभाल केन्द्र को संचालित करने के लिए गृह मंत्रालय से चिकित्सा अधिकारी और अर्ध चिकित्सा कर्मियों की मांग की थी। गृह मंत्रालय ने प्रतिष्ठान को संचालित करने के लिए आईटीबीपी को नोडल बल बनाया है।’
आईटीबीपी के महानिदेशक एस एस देसवाल ने बताया कि दक्षिण दिल्ली के राधा स्वामी व्यास में स्थित प्रतिष्ठान के लिए फोर्स श्रमबल जुटा रही है और जैसे ही प्रतिष्ठान तैयार होता है इन्हें तैनात कर दिया जाएगा। देसवाल ने बताया, ‘हमारे पास पर्याप्त श्रमबल है। जरूरत पड़ने पर इस केन्द्र में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के लिए अपने और चिकित्सक और चिकित्सा कर्मियों को तैनात कर सकते हैं। इस केन्द्र की शुरुआत फिलहाल 500बिस्तरों के साथ की जाएगी।’ एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि केन्द्र के अगले तीन दिन में शुरू होने की संभावना है।