बेशर्मी की हदः एंबुलेंस वाले ने 3 किलोमीटर जाने के लिए मांगे 10 हजार रुपए


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। कोरोना मरीजों की मजबूरी का फायदा उठाते हुए एंबुलेंस वाले मनचाहा किराया वसूल रहे हैं। मजबूरन लोग को पैसे देने पड़ रहे हैं। इमरजेंसी में उनके पास कोई और दूसरा विकल्प नहीं रह जाता है। ऐसे ही एक मामले में एक मरीज को पीतमपुरा से शालीमार बाग फोर्टिस अस्पताल तक ले जाने के लिए उस मरीज से 10 हजार रुपये चार्ज किए, जबकि पीतमपुरा से इस अस्पताल की दूरी महज 3 किलोमीटर है।
लोग एक दूसरे से मदद मांग रहे हैं। कुछ लोग निशुल्क मदद में भी जुटे हैं। इसके साथ ही कई लोगों की मजबूरी का फायदा भी उठाया जा रहा हैं। कई बार लोग एंबुलेंस के लिए कोशिश करते रहते हैं, लेकिन एंबुलेंस नहीं मिलती है। एंबुलेंस मिल भी जाए तो मनचाहा किराया मांग रहे हैं। पीतमपुरा के मुकेश गोयल ने बताया कि रविवार को मरीज को लेकर शालीमार बाग के फोर्टिस अस्पताल तक जाना था। एक एंबुलेंस सर्विस प्रोवाइडर ने उन्हें 10 हजार रुपये चार्ज किए, इमरजेंसी में इसी एंबुलेंस से जाना पड़ा। अस्पताल तक पहुंचने के बाद हमने एंबुलेंस के ड्राइवर से कहा कि आप 10 मिनट इंतजार कीजिए, अगर यहां मरीज एडमिट नहीं होते हैं, तो फिर वापस उन्हें जाना पड़ेगा। इस पर एंबुलेंस के ड्राइवर ने कहा कि इसके लिए 10 हजार रुपये और देने होंगे।