दिल्ली क्राइम ब्रांच ने 40 हजार में रेमडेसिविर बेचने वाले 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। कोरोना के इलाज में काम आ रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोप में क्राइम ब्रांच ने तीन मुलजिमों को गिरफ्तार किया है। वे रेमडेसिविर का एक इंजेक्शन 40 हजार रुपये में बेच रहे थे। उनके पास से रेमडेसिविर के तीन इंजेक्शन, 100 ऑक्सिमीटर और 48 छोटे ऑक्सिजन सिलिंडर भी बरामद किए गए। तीनों को क्राइम ब्रांच ने तीन दिन की रिमांड पर लिया है। 
क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि गिरफ्तार किए गए मुलजिमों में आलोक त्यागी, अभिषेक बंसल और सोमिल गुप्ता हैं। आलोक पक्का बाग हापुड़, अभिषेक राज नगर एक्सटेंशन गाजियाबाद और सोमिल नोएडा सेक्टर-121 का रहने वाला है। सूचना मिलने पर उन्हें एसीपी राजेश कुमार और इंस्पेक्टर राजीव कक्कड़ की टीम ने लक्ष्मी नगर इलाके से पकड़ा।
उनके पास से तीन रेमडेसिविर के इंजेक्शन बरामद करने के अलावा 1.20 लाख रुपये भी जब्त किए गए। इसके अलावा ब्रीजा कार, कार की जांच करने पर इसके अंदर रखे 100 ऑक्सिमीटर और 48 छोटे ऑक्सिजन सिलिंडर भी कार से बरामद किए गए। उनके खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।
पुलिस का कहना है कि उन्हें शनिवार रात लक्ष्मी नगर मेट्रो पिलर नंबर-40 के पास से पकड़ा गया। उनके पास यूपी नंबर की कार थी। उनके बारे में सूचना मिली थी कि वे लोग कोरोना से जान बचाने वाली दवाइयों और अन्य सामान की कालाबाजारी कर रहे हैं। उनके पास से एक डायरी भी बरामद की गई है। इससे कुछ जानकारी मिली है।
माना जा रहा है कि इससे पहले उन्होंने जिन-जिन लोगों को ब्लैक में इंजेक्शन और अन्य सामान बेचा था उसकी जानकारी डायरी में लिखी गई हैं। तमाम जानकारियों की जांच शुरू कर दी गई है। क्राइम ब्रांच का कहना है कि तीनों पिछले करीब दो साल से मेडिकल से संबंधित सामान बेचते हैं।