दिल्ली में पत्नी और दो बच्चों की हत्या के बाद डीटीसी ड्राइवर ने की आत्महत्या


  •  डीटीसी बस का चालक था मृतक।
  • मौके से नहीं मिला कोई सुसाइड नोट।
  • पूरे परिवार के साथ तीन मंजिला मकान में रहता था मृतक।
दिल्ली ब्यूरो। राजधानी दिल्ली के रोहिणी इलाके से आज सुबह एक दिल दहलाने वाली खबर सामने आई। रोहिणी के नाहरपुर में बीती रात डीटीसी में बतौर ड्राइवर काम कर रहे एक शख्स ने कथित तौर पर पहले अपनी पत्नी और दो बच्चों की हत्या कर दी, उसके बाद खुद भी आत्महत्या कर ली। फिलहाल पुलिस मामले की जांच करने में लगी हुई है। जानकारी के मुताबिक, बुधवार की रात को एक शख्स ने पहले तो अपनी पत्नी और दो बच्चों की बेरहमी से हत्या कर दी, उसके बाद उसने खुद भी आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस वहां पहुंचकर छानबीन कर रही है। घटना के पीछे ड्राइवर का जीवन से परेशान होना बताया जा रहा है।
डीटीसी बस ड्राइवर के तौर पर काम करता था मृतक
मृतक का नाम धीरज यादव है जिसकी उम्र 31 साल थी और वह डीटीसी बस ड्राइवर के तौर पर काम करता था। आज सुबह उसका शव कमरे के पंखे पर फांसी के फंदे से लटकता हुआ मिला। वहीं, मृतक की पत्नी का नाम आरती है जिसकी उम्र 28 साल थी। इसके अलावा दो बच्चे हितेन और अथर्व जिनकी उम्र 6 और 3 साल थी, घर में मृत अवस्था में पाए गए।
नाहरपुर के तीन मंजिला मकान में रहता था मृतक का परिवार
मृतक का परिवार रोहिणी के नाहरपुर गांव में एक तीन मंजिला मकान के दूसरे फ्लोर पर रहता था। ग्राउंड फ्लोर पर महा सिंह, उनकी पत्नी सुदेश रानी और माता रहती हैं जबकि पहले फ्लोर पर महा सिंह के बड़े बेटे नीरज अपनी पत्नी ज्योति और दो बच्चों के साथ रहते हैं। नीरज BSA में OT असिस्टेंट के तौर पर काम करते हैं।
आपको बता दें कि मृतक धीरज यादव भी महा सिंह के बेटे थे, जो मकान की दूसरी मंजिल पर रहते थे। मृतक का एक सूइसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने जिंदगी में बेहतर नहीं कर पाने की वजह से मौत को गले लगाने की बात लिखी है। फिलहाल वह डीटीसी में कॉन्ट्रैक्ट पर ड्राइवर थे।