दिल्ली वालों को लगेगा झटका, पार्किंग रेट में होगी दोगुना बढ़ोतरी


  • एसडीएमसी पार्किंग दरों को 20 रुपये से बढ़ाकर 40 रुपये प्रति घंटा करना चाहती है
  • आप प्रवक्ता ने कहा - पिछले एक साल में 10वीं बार पार्किंग की दर बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव
  • भाजपा के प्रवक्ता ने पार्किंग चार्ज के मुद्दे पर लोगों को ‘‘गुमराह’’ करने का लगाया आरोप
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने शनिवार को आरोप लगाया कि भाजपा शासित दक्षिण दिल्ली नगर निगम पार्किंग की दरें बढ़ाने का प्रस्ताव रखकर 'लोगों को लूट ' रहा है।, जबकि भाजपा ने इस दावे को ‘‘भ्रामक’’ बताया है। आप की प्रवक्ता और विधायक आतिशी ने संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि एसडीएमसी पार्किंग दरों को 20 रुपये से बढ़ाकर 40 रुपये प्रति घंटा करना चाहती है, जिससे पता चलता है कि वे कैसे अनावश्यक रूप से कर दरों में वृद्धि करने संबंधी नीतियां बार-बार ला रहे हैं।
10वीं बार पार्किंग की दर बढ़ाने का प्रस्ताव
आतिशी ने कहा, ‘‘पिछले एक साल में, भाजपा शासित दक्षिण एमसीडी जनता से लूटपाट के लिए 10वीं बार पार्किंग की दर बढ़ाने संबंधी ऐसे प्रस्ताव लाई है।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ऐसा इसलिए कर रही है क्योंकि उन्हें पता है कि अगले नगर निगम चुनावों में सत्ता से बेदखल होने से पहले उनके पास ‘‘जनता के पैसे लूटने और भ्रष्टाचार में लिप्त’’ होने के लिए सिर्फ एक साल बचा है।
आप ने कहा- लोगों को लूटना बंद करें, प्रस्ताव वापस लें
उन्होंने कहा, ‘‘आप की मांग है कि दक्षिण एमसीडी पार्किंग की दर को दोगुना करने के प्रस्ताव को तुरन्त वापस ले और लोगों को लूटना बंद करें।’’ इन आरोपों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने आतिशी को पार्किंग शुल्क के मुद्दे पर लोगों को ‘‘गुमराह’’ करना बंद करने को कहा क्योंकि एसडीएमसी ने सामान्य रूप से शुल्क को नहीं बढ़ाया है।
ग्रीन पार्क में बनी है मल्टी लेवल पार्किंग
भाजपा प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि ग्रीन पार्क मार्केट के पास दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने एक मल्टी लेवल पार्किंग का निर्माण किया है। इसके उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए, ग्रीन पार्क रोड पर पार्किंग की दरों में वृद्धि की गई है। यह भी सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देश के अनुसार है। कपूर ने कहा कि दिल्ली में सड़कों पर पार्किंग एक बड़ी समस्या है। यह सड़क पर जाम के अलावा अक्सर लड़ाई का कारण भी बनता है।