कानपुर में वसीम रिजवी और यति नरसिंहानंद के सिर कलम करने की लगाई होर्डिंग, पुलिस ने दर्ज किया केस


  • फिलहाल पुलिस ने विवादित होर्डिंगों को हटवा दिया है
  • पोस्टर में नरसिंहानंद सरस्वती की तस्वीर होने पर विवाद खड़ा हो गया
  • पुलिस अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज पूरे मामले की जांच कर रही
कानपुर ब्यूरो। कानपुर में वसीम रिजवी और यति नरसिंहानंद सरस्वती के सिर कलम करने की होर्डिंग लगाई गई है। विवादित होर्डिंग लगाकर शहर का माहौल खराब करने का प्रयास किया गया है। ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) की नगर इकाई के कार्यकर्ताओं ने विवादित होर्डिंग और पोस्टरों को शहर में चस्पा किए हैं। पोस्टर में नरसिंहानंद सरस्वती की तस्वीर होने पर विवाद खड़ा हो गया। बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने पुलिस को शिकायत दी है। वहीं, पुलिस पूरे घटनाक्रम की जांच कर रही है। फिलहाल पुलिस ने विवादित होर्डिंगों को हटवा दिया है।
चमनगंज स्थित हलीम कॉलेज चौराहे पर एआइएमआइएम के कार्यकर्ताओं ने बीते रविवार को विरोध-प्रदर्शन किया था। जिसमें वसीम रिजवी और नरसिंहानंद सरस्वती के पोस्टरों को सड़क पर चिपका कर और पोस्टरों के साथ चहल-कदमी कर अपना विरोध दर्ज किया था। इसके बाद वसीम रिजवी और नरसिंहानंद सरस्वती को फांसी और सिर कलम करने के कई पोस्टर शहर में लगाए गए थे।
मुस्लिमों में भारी आक्रोश
शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने कुरान शरीफ की 26 आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। वसीम रिजवी की इस याचिका से मुस्लिम समाज में उनके खिलाफ भारी आक्रोश था। फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने वसीम रिजवी की इस याचिका को खारिज कर उन पर 50 हजार का जुर्माना भी लगाया है। इसके साथ ही नरसिंहानंद सरस्वती पैगंबर-ए-इस्लाम पर आपत्तिजनक टिप्प्णी की थी। उनकी विवादित टिप्पणी को लेकर मुस्लिम समाज में गुस्सा था। इस लिए वसीम रिजवी की तस्वीर के साथ नरसिंहानंद सरस्वती की भी तस्वीर को लगाया गया है।
अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज
एसीपी निशंक शर्मा के मुताबिक, विवादित होर्डिंग को तत्काल प्रभाव से हटवा दिया गया है। अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच जो भी तथ्य भी सामने आंएगें उस आधार पर कार्रवाई की जाएगी।