इलाज के दौरान मरीज की मौत, हॉस्पिटल ने थमाया ढाई लाख का बिल


नई दिल्ली। जनकपुरी के माता चानन देवी हॉस्पिटल में सांस लेने में दिक्कत महसूस होने के चलते एक मरीज की मौत हो गई। मरीज की मौत के बाद हॉस्पिटल प्रशासन ने ढाई लाख रुपये का बिल परिजनों को थमा दिया है। परिजनों का आरोप है कि इलाज के दौरान लापरवाही बरती गई और मनमाने ढंग से बिल बना कर दिया गया। माता चानन देवी हॉस्पिटल में एक शख्स को सांस लेने में दिक्कत महसूस होने पर इलाज के लिए लाया गया। 5 दिनों से इलाज करा रहे, शख्स की शुक्रवार को मौत हो गई। हॉस्पिटल प्रशासन ने मरीज की मौत के बाद, उसके परिजनों को ढाई लाख रुपये का बिल भरने को कहा है।
जबकि, हॉस्पिटल पहले ही 70 हजार रुपये ले चुका है। परिजनों का कहना है की सांस में तकलीफ महसूस होने पर पेशेंट खुद चल कर हॉस्पिटल तक आया था। अभी अचानक से हॉस्पिटल की तरफ से बताया जा रहा है कि सुबह 5 बजे मरीज की मौत हो गई। कैसे मौत हुई, कुछ भी नहीं बताया। परिजनों ने हॉस्पिटल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए बताया कि जो खुद चल कर आया और कल तक बात कर रहा था, वो अचानक से कैसे मर गया. अगर सुबह 5 बजे मौत हुई, तो इतनी देर से क्यों बताया जा रहा है। साथ ही परिजनों ने ये भी आरोप लगाया कि उन्हें अब तक मृतक को देखने नहीं दिया गया है।