लक्ष्मी नगर में बेरोजगार सॉफ्टवेयर इंजिनियर ने खुद को मारी गोली


  • पति पहले से बेरोजगार था, पत्नी की पिछले साल लॉकडाउन में जॉब चली गई
  • पिछले साल लिया था 12 लाख का लोन, दोनों में बहस हुई, पति ने दे दी जान
  • बहस के बाद इमरान ने देशी कट्टा निकाला और अपने सीने पर गोली मार ली
पूर्वी दिल्ली। पति-पत्नी दोनों सॉफ्टवेयर इंजिनियर थे। 8 साल तक रिलेशनशिप में रहने के बाद दोनों ने शादी कर ली। पति की नौकरी पहले गई, तो पत्नी की पिछली बार लॉकडाउन में चली गई। पत्नी ने बैंक से 12 लाख लोन लिया था। कर्जे की वजह से दोनों परेशान थे। इसी बात को लेकर बुधवार रात दोनों के बीच बहस हुई। पति ने गुस्से में आकर देशी कट्टा निकाला और खुद के सीने में गोली मार ली। पुलिस ने बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाकर युवक के परिजनों को यूपी में सूचना भिजवा दी। पुलिस फिलहाल मामले की छानबीन कर रही है।
अडिशनल डीसीपी (ईस्ट) संजय सहरावत ने बताया कि लक्ष्मी नगर थाने में 8:51 बजे सूचना मिली। मृतक की शिनाख्त इमरान (36) के तौर पर हुई, जो यूपी के मैनपुरी के रहने वाले थे। यहां वेस्ट गुरु अंगद नगर में पत्नी शिखा तिवारी के साथ रहते थे। तफ्तीश में सामने आया कि इमरान और शिखा ने 8 साल तक रिलेशनशिप में रहने के बाद 2 साल पहले शादी कर ली थी। इमरान लंबे समय से बेरोजगार थे, जबकि पत्नी की जॉब पिछले साल लॉकडाउन में चली गई। दोनों ही सॉफ्टवेयर इंजिनियर थे।
दोनों पैसे की किल्लत से जूझ रहे थे। ऐसे में पत्नी शिखा ने जुलाई 2020 में 12 लाख रुपये का लोन लिया था। शिखा ने पुलिस को बयान दिया कि बुधवार शाम को उनकी पति से इसी बात को लेकर तीखी बहस चल रही थी। अचानक इमरान ने देशी कट्टा निकाला और अपने सीने पर गोली मार ली। पुलिस ने तमंचा लेकर जांच के लिए फॉरेंसिक साइंस लैब भेज दिया है। यूपी के मैनपुरी में रहने वाले इमरान के परिजनों को मौत की जानकारी दे दी गई, जो दिल्ली पहुंच गए हैं।