सिख समाज का ऑक्सिजन लंगर, इस अनूठी पहल की हो रही तारीफ


कानपुर ब्यूरो। सिख समाज की तरफ से लगने वाले लंगर में तो सभी ने खाना खाया होगा, लेकिन सिख समाज ने एक अनूठी पहल की है। ऑक्सिजन नहीं मिल पाने की वजह से मरीजों की सांसे उखड़ रही हैं। ऐसे मरीजों के लिए सिख समाज ऑक्सिजन लंगर लगा रहा है। ऐसे में ये किसी संजीवनी से कम नहीं है।
कानपुर के गुमटी नंबर पांच स्थित श्री गुरु सिंह सभा ने ऑक्सिजन सेवा का शुभारंभ किया है। इस ऑक्सिजन लंगर में तीन से चार घंटे जरूरतमंदों को नि:शुल्क ऑक्सिजन दी जा रही है। सिख समाज का ऑक्सिजन लंगर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक सेवा कार्य करेगा। पहले दिन ऑक्सिजन लंगर के 09 बेड में 45 लोगों को बारी-बारी से नि:शुल्क ऑक्सिजन दी गई। जिसने भी इस लंगर को देखा, उसकी जुबांन से सिर्फ दुआएं ही निकलीं।
कानपुर में संक्रमित मरीजों को अस्पतालों में आसानी से बेड नहीं मिल पा रहे हैं। अस्पताल में भर्ती कराने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ रहा है या फिर सुबह से शाम तक संघर्ष करना पड़ रहा है। इस भाग-दौड़ में मरीज की जान पर बन आती है। मरीज के परिजन सुबह से लेकर शाम तक ऑक्सिजन सिलिंडर की लाइन में लगे हैं। ऐसे मरीजों की सांसें उखड़ने लगती है, इस स्थिति में ऑक्सिजन लंगर में आकर मरीजों की सांसों को नियंत्रित कर सकते हैं।
ऑक्सिजन लंगर का किया जाएगा विस्तार
ऑक्सिजन लंगर में बड़ी संख्या में लोग ऑक्सीजन लेने के लिए आ रहे हैं। सुबह से ही लोग कार, ऑटो और स्ट्रेचर पर मरीज पहुंच रहे हैं। इस कैंप में मरीजों के लिए बेड डाले गए हैं। गर्मी से बचने के लिए कूलर लगाए गए हैं। इसके साथ ही मेडिकल टीम को भी तैनात किया गया है।
श्री गुरु सिंह सभा कानपुर के अध्यक्ष हरविंदर सिंह लार्ड के मुताबिक, ऑक्सिजन लंगर में हर जरूरतमंद को तीन से चार घंटे ऑक्सिजन दी जा रही है। उन्होंने कहा कि जब तक ऑक्सिजन की किल्लत रहेगी, यह लंगर इसी तरह से चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि ऑक्सिजन लंगर को बढ़ाया जाएगा।