नक्सलियों ने डीआरजी के जवान की कर दी हत्या, तीन दिन पहले पालनार क्षेत्र से किया था अगवा


बीजापुर। नक्सलियों ने बीजापुर के पालनार से तीन दिन पहले अपह्रृत डीआरजी के जवान की हत्या कर दी। जवान मुरली ताता का शव शनिवार सुबह गंगालूर के पुलशुम पारा से मिला है। नक्सलियों ने एक दिन पहले पर्चा जारी कर बताया था कि मुरली ताती को जन अदालत में मौत की सजा दी गई है। बीजापुर के एडिशनल एसपी पंकज शुक्ला ने जवान की हत्या किए जाने की पुुष्टि की है।
नक्सलियों ने 21 अप्रैल को मुरली ताती का पालनार क्षेत्र से अपहरण किया था। तबीयत खराब होने के चलते मुरली डेढ़ महीने से ड्यूटी नहीं जा रहे थे और अपने गांव पालनार में थे। तीन दिन पहले पालनार मेला क्षेत्र से नक्सलियों ने उन्हें अगवा किया था। बस्तर के आईजी पी सुंदरराज ने कहा था कि जवान की तलाश में जंगल में सर्चिंग की जा रही है।
अगवा किए जाने के बाद जवान के परिजनों ने मीडिया के माध्यम से नक्सलियों से उसे रिहा करने की गुहार लगाई थी। शुक्रवार को नक्सलियों ने पर्चा जारी कर मुरली ताती पर कई आरोप लगाए थे। इसमें सलवा जुडुम में भागीदारी, गरीब ग्रामीणों के साथ अत्याचार आदि शामिल थे। पश्चिम बस्तर डिवीजन की ओर से जारी पर्चे में लोगों को डीआरजी में शामिल नहीं होने की नसीहत भी दी गई थी।