निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा के बाद घूसखोरी के आरोपी पुष्कर मित्तल को जमानत, आईपीएस अभी काट रहा जेल


दौसा। बहुचर्चित दौसा घुसकांड के आरोपी निलंबित एसडीएम पुष्कर मित्तल को राजस्थान उच्च न्यायालय न्यायधीश इंद्रजीत सिंह की कोर्ट ने जमानत दे दी है। इससे पूर्व निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा को भी जमानत मिल चुकी है। वहीं इस घूस कांड के आरोपी निलंबित आईपीएस मनीष अग्रवाल अभी जेल में है।भारतमाला परियोजना के तहत बनाए जा रहे दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे के प्रतिनिधि से 5 लाख रूपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़े गए दौसा के तत्कालीन एसडीएम पुष्कर मित्तल को राजस्थान हाई कोर्ट से गुरुवार को जमानत मिल गई। चार्जशीट दाखिल होने के बाद पुष्कर मित्तल को जमानत दी गई है। 13 जनवरी को जयपुर एसीबी ने दौसा में रेप की कार्रवाई करते हुए एसडीएम पुष्कर मित्तल को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था जिसके बाद 14 जनवरी को पुष्कर मित्तल को न्यायालय में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया था। पुष्कर मित्तल पिछले 77 दिन से जेल में है और अब उन्हें जमानत मिल गई है ऐसे में अब उन्हें जमानत पर रिहा किया जाएगा।
इससे पूर्व भी निलंबित एसडीएम पुष्कर मित्तल ने जयपुर एसीबी कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी लेकिन वह खारिज हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने राजस्थान उच्च न्यायालय में जमानत याचिका लगाई थी। हालांकि सुनवाई होने से पहले ही उन्होंने जमानत याचिका वापस ले ली। इसी घूस कांड में 10 लाख रूपए की रिश्वत के डिमांड करने के आरोप में रिश्वतखोर एसडीएम पिंकी मीणा को भी गिरफ्तार किया गया था। पिंकी मीणा को भी राजस्थान हाई कोर्ट से जमानत मिल चुकी है।
वहीं इस मामले में 2 फरवरी को दौसा के तत्कालीन एसपी मनीष अग्रवाल को भी दलालों के माध्यम से रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था। तभी से वह जेल में है। हालांकि उन्हें बहन की शादी के लिए 10 दिन की अंतरिम जमानत मिली थी। अंतरिम जमानत की अवधि पूरी होने के बाद से वह वापस जेल में है। निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा को भी शादी के लिए 10 दिन की अंतरिम जमानत मिली थी।