कौशांबी जिला अस्पताल से रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी


कौशांबी। पूरे उत्तर प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड बढ़ गई है। इंजेक्शन का मिलना लोगों को मुश्किल हो रहा है तो वहीं उत्तर प्रदेश के कौशांबी के एक सरकारी हॉस्पिटल के स्टोर रूम से रेमडेसिविर इंजेक्शन पर चोरों ने हाथ साफ कर मौके से फरार हो गए। वारदात के बाद पूरे हॉस्पिटल में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में इस बात की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने फोरेंसिक टीम की मदद से चोरी की वारदात के खुलासे में लग गई है।
स्टोर के ताला तोड़ दिया घटना को अंजाम
कौशांबी जिला अस्पताल में मंगलवार सुबह एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। कौशांबी के मंझनपुर इलाके में बने जिला अस्पताल के सर्जिकल सेंट्रल स्टोर का ताला तोड़कर चोरों ने सात रेमडेसिविर इंजेक्शन को चोरी कर लिया।अस्पताल के स्टोर कीपर फार्मासिस्ट एसबी सिंह के मुताबिक, सुबह नौ बजे मरीजों तक दवा पहुंचाने के लिए वार्ड की ओर गए। उसी दौरान जब वह वापस स्टोर पंहुचे तो रेमडेसिविर इंजेक्शन वाले बॉक्स का ताला टूटा मिला। बॉक्स से सात इंजेक्शन गायब थे। जिसकी सूचना उच्च अधिकारियो को दी गई है। इन दिनों रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी के कारण मार्केट में इंजेक्शन की कालाबाजारी खूब हो रही है। वैसे तो एक इंजेक्शन की कीमत 700 रुपये है, लेकिन बाजार में तीन गुने से अधिक रुपये में बेचा जा रहे है।
खुलासे के लिए एक पुलिस टीम गठित
रेमडेसिविर इंजेक्शन चोरी के मामले में पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। जहां एक ओर अस्पताल के कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है तो वहीं एसपी कौशांबी अभिनंदन ने एडिशनल एसपी समर बहादुर सिंह के नेतृत्व में एक टीम गठित कर दी है। एसपी कौशांबी के मुताबिक, जल्द ही टीम घटना का खुलासा करेगी। इसके अलावा एसपी कौशांबी ने बताया कि अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे को भी खंगाला जा रहा है। साथ ही घटना के खुलासे के लिए फोरेंसिक टीम की भी मदद ली जा रही है।