दिल्ली में आग बुझाने वाले सिलेंडरों को आक्सीजन सिलेंडर कहकर कर रहे थे ठगी


दिल्ली ब्यूरो। राजधानी में जिस तरह से कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा हुआ है उसी तेजी के साथ कालाबाजारी करने वालों की संख्या भी काफी बढ़ गई है। अभी तक एक दर्जन से अधिक ऐसे लोग पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं जो कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं और अन्य चीजों की कालाबाजारी कर रहे हैं। रेमडेसिवीर दवा के तो मुंहमांगे दाम मांगे जा रहे हैं, लोग इसका मुंहमांगा दाम देने को भी मजबूर हैं। इसके अलावा आक्सीजन सिलेंडर की किस तरह से कालाबाजारी हो रही है ये भी किसी से छिपा नहीं है। और तो और अब तो ठग आग बुझाने में इस्तेमाल किए जाने वाले सिलेंडरों को भी आक्सीजन सिलेंडर कहकर बेच दे रहे हैं। एक बार पैसा हाथ में आ जाने के बाद फिर मरीज के परिजन इनको खोजते रह जाते हैं।
संतोष कुमार मीणा, डीसीपी द्वारका, दिल्ली ने अग्निशामक सिलेंडर को ऑक्सीजन सिलेंडर बताकर बेचने के मामले में ऐसे ही 2 आरोपियों को गिरफ़्तार किया है। इनके पास से 5 सिलेंडर भी बरामद किए गए हैं। फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है
इन लोगों से जब पुलिस ने कालाबाजारी करने के बारे में पूछा तो इन्होंने बताया कि ये आग बुझाने वाले सिलेंडरों को ही आक्सीजन सिलेंडर कहकर बेच दे रहे थे, लोगों को इसके बारे में पता नहीं है और वो उनसे इसे खरीद ले रहे थे। जब वो इसका इस्तेमाल करने के लिए अस्पताल पहुंचते थे तब तक ये लोग गायब हो जाते थे। दुबारा फोन आने पर उस नंबर को ब्लाक कर देते थे। सिलेंडर खरीदने वाला उसके बाद परेशान होता रहता था।