कोविड अस्पताल में तैनात स्टेटिक मजिस्ट्रेट पर डीएम के आदेश पर एफआईआर


कानपुर ब्यूरो। कानपुर डीएम आलोक तिवारी ऐक्शन में हैं। काम में लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के खिलाफ सख्त रवैया अपना रहे हैं। चाहे वह जिला प्रशासन का अधिकारी हो या फिर स्वास्थ्य महकमे का कर्मचारी हो। डीएम आलोक तिवारी ने एडीएम सिटी के साथ कोविड स्टेट्स कृष्णा हॉस्पिटल का औचक निरीक्षण किया था, जिसमें हॉस्पिटल में स्टेटिक मजिस्ट्रेट के पद पर तैनात वाणिज्यकर के अधिकारी मसूद अख्तर खान ड्यूटी से नदारत मिले थे। डीएम आलोक तिवारी के आदेश पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट के खिलाफ रेल बाजार थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।
डीएम आलोक तिवारी ने सभी कोविड स्टेट्स अस्पतालों में स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की तैनाती की थी। स्टेटिक मजिस्ट्रेट की निगरानी में कोविड मरीजों का इलाज हो सके। कोविड स्टेट्स हॉस्पिटल मरीजों से मनमानी वसूली न कर सके। प्रशासन ने जो शुल्क निर्धारित किया है, अस्पताल उससे अधिक बिल ना ले सकें और जरूरतमंदों को बेड दिलाने में उनकी मदद करें। सभी कोविड अस्पतालों में आठ-आठ घंटे की ड्यूटी में स्टेटिक मजिस्ट्रेट को तैनात किया गया है।
डीएम के निरीक्षण में दो दिनों से थे नदारत
स्टेटिक मजिस्ट्रेट मसूद अख्तर खान को कृष्णा अस्पताल में तैनात किया गया था। मसूद अख्तर खान की ड्यूटी दोपहर 2 बजे से रात 10 बजे तक थी। डीएम आलोक तिवारी का कहना है कि दो दिन कृष्णा हॉस्पिटल का निरीक्षण किया और दोनों ही दिन स्टेटिक मजिस्ट्रेट ड्यूटी में नहीं मिले। आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत केस दर्ज कराने का आदेश दिया गया है। डीएम के आदेश पर एसीएम प्रथम आरपी वर्मा ने रेल बाजार थाने में स्टेटिक मजिस्ट्रेट पर मुकदमा दर्ज कराया है।
डीएम के आदेश पर इन पर हो चुकी है कार्रवाई
कानपुर डीएम आलोक तिवारी काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं। बीते दिनों उन्होने पतारा सीएचसी प्रभारी और रैपिड रिपांस टीम के प्रभारी नीरज सचान पर स्वरूप नगर थाने के एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद ओवर बिलिंग मामले में कोविड स्टेट्स फैमिली अस्पताल पर डीएम के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया है। एक अन्य मामले में ऐंबुलेंस ड्राइवर पर भी केस दर्ज कराया गया था।
स्टेटिक मजिस्ट्रेट को देनी होगी गूगल लोकेश
डीएम आलोक तिवारी ने स्पष्ट कर दिया है कि जो भी लापरवाही बरतेगा, उसकी खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। कोविड स्टेट्स अस्पताल में तैनात स्टेटिक मजिस्ट्रेटों की निगरानी के प्रभारी मजिस्ट्रेट किसी भी वक्त पहुंच कर देख सकते हैं कि स्टेटिक मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर हैं या नहीं। इसके साथ ही किसी भी स्टेटिक मजिस्ट्रेट से गूगल लोकेशन मांगी जा सकती है।